Home विषयअपराध दो बेटों की हत्या कर उन के खून में

दो बेटों की हत्या कर उन के खून में

180 views
दो बेटों की हत्या कर उन के खून में भात सान कर आप उन की मां को खिलाएं। वामपंथी साथियों ने ऐसा किया था कोलकाता में और ऐसा करने वाले लोग बरसों मंत्री पद भी भोगते रहे। पश्चिम बंगाल का चरित्र ही रक्तपात का बना दिया जो जाता नहीं दीखता। तिस पर तुर्रा यह कि आप बड़े ठसके से कहें कि आप सत्ता से सवाल क्यों नहीं करते , विपक्ष से क्यों करते हैं।
प्रेस कांफ्रेंस में ज़िला स्तर के गरीब पत्रकारों को सुरक्षाकर्मियों से पिटाई करवा दें। और कहें कि सवाल विपक्ष से क्यों पूछते हो , सत्ता से सवाल करो। हिंसा आप करें। भ्रष्टाचार आप करें और सवाल सत्ता से करें। आय से अधिक आय का सामना आप का पूरा परिवार करे लेकिन सवाल आप से न किया जाए। लखनऊ के विक्रमादित्य मार्ग के दो-चार बंगले छोड़ कर सारे बंगले आप के परिवारीजन के नाम दर्ज हो गए हों। पर आप से सवाल न करें। आप के मंत्रिमंडल में रहे गायत्री प्रजापति बलात्कार , खनन , भ्रष्टाचार आदि के आरोप में जेल भुगत रहा हो पर आप से कोई सवाल न करे। आज़म खान जैसा आदमी जो भारत माता को डाइन कहता है , अपने खिलाफ चुनाव लड़ रही महिला की चड्ढी का रंग बखानता हो। दर्जनों मामले में जेल में बंद आज़म खान पर कोई सवाल न पूछे।
भ्रष्ट और तिकड़मबाज ही सही पर पिता तो था जिस ने मुख्य मंत्री की कुर्सी तश्तरी में सजा कर दे दी हो , औरंगज़ेब बन कर पिता की पीठ में छुरा घोंप कर उसे आप राजनीतिक निर्वासन दें पर आप से कोई सवाल न पूछे। चाचा भले भरपेट भ्रष्ट हो लेकिन उंगली पकड़ कर चलना सिखाया उसे जलील कर किनारे कर दें पर आप से कोई सवाल न पूछे। जिस औरत ने पिता की मूछ काट ली हो , कान पकड़वा कर उठक-बैठक करवाई हो पिता से , सत्ता सुख के लिए उसे बुआ बना लें लेकिन कोई सवाल न पूछे।
इस लिए कि आप यादव राज चलाने के लिए कुख्यात हैं। यादव शिरोमणि और टोटी चोर मुख्य मंत्री होने के कारण जाने जाते हैं। सिर्फ़ इस लिए , सिर्फ़ इस लिए आप से सवाल न पूछे जाएं , अखिलेश यादव ! समय बड़ा बलवान होता है। अभी गायत्री प्रजापति , आज़म खान जेल में हैं। लालू यादव की तरह कब तुम भी जेल पहुंच जाओगे , पता ही नहीं चलेगा। सवाल तब और ज़्यादा पूछे जाएंगे। खरीदी हुई मीडिया और मीडिया मालिक तब काम न आएंगे। जांच कार्य प्रगति पर है , सो फिकर नाट। जयललिता और लालू यादव को भी जेल जाने में समय लगा था , अभी तम्हें भी जेल जाने में समय लगेगा। क्यों जाओगे , जानते हो ? यह सवाल मैं पूछ रहा हूं। क्या कर लोगे मेरा ? पूछ रहा हूं। इस लिए भी कि कायर नहीं हूं। बिकाऊ नहीं हूं।
[ बीते साल आज ही के दिन की पोस्ट ]

Related Articles

Leave a Comment