Home विषयमुद्दा विराट कोहली अब कभी T-20 इंटरनेशनल मुकाबले में भारत के लिए नहीं खेलेंगे

विराट कोहली अब कभी T-20 इंटरनेशनल मुकाबले में भारत के लिए नहीं खेलेंगे

Lekhanbaji

by Praarabdh Desk
214 views

विराट कोहली अब कभी T-20 इंटरनेशनल मुकाबले में भारत के लिए नहीं खेलेंगे। नई टीम बनेगी, जिसकी कप्तानी हार्दिक पंड्या करेंगे। बदले में तमाम सीनियर खिलाड़ियों को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। बीसीसीआई के सूत्रों के हवाले से यह खबर सुर्खियों में है। ऐसा लग रहा है कि जानबूझकर इस खबर को हर तरफ प्लांट किया जा रहा है। यहां पर सवाल है कि जिन रोहित शर्मा और केएल राहुल ने वर्ल्ड कप के महत्वपूर्ण मुकाबलों में टीम की लुटिया डुबाई, उनको बाहर करने की बजाय विराट को टीम से निकालने की बात क्यों की जा रही है? पहले किंग को साजिश रचकर कप्तानी से हटाया गया और अब टीम में उनकी जगह पर खतरा मंडरा रहा है। बीसीसीआई का इरादा नेक नजर नहीं आ रहा है।

T-20 वर्ल्ड कप 2022 के 6 मुकाबलों में 99 की औसत से 296 रन। 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ जब बाकी सब बल्लेबाजों ने हथियार डाल दिए, तो विराट ने अकेले 53 गेंदों पर 82* रन बनाकर पाकिस्तान के जबड़े से जीत छीन ली। ऐसा करके किंग ने समूचे हिंदुस्तान की दिवाली काली होने से बचा ली। इंग्लैंड के खिलाफ भी सेमीफाइनल में ओपनर्स की नाकामी के बीच विराट ने अर्धशतक लगाया। एशिया कप में अफगानिस्तान के खिलाफ 71वां शतक जड़ने के बाद जब विराट प्रचंड फॉर्म में नजर आ रहे हैं तो आखिर उनको टीम से बाहर किस लिए किया जा रहा है? संदेह गहरा हो रहा है कि इस साजिश को विराट को 100 शतक बनाने से रोकने के लिए अंजाम दिया जा रहा है।

115 T-20 इंटरनेशनल मुकाबलों में 139 की स्ट्राइक रेट से दुनिया में सबसे ज्यादा 4008 रन…! 52 की बेहतरीन औसत से खेलते हुए 1 शतक और 37 अर्धशतक। आईसीसी के टूर्नामेंट्स में भारत की तरफ से विराट ने सबसे ज्यादा 2757 रन बनाया है। उनके बाद सचिन के बल्ले से 2719 रन आया है। 34 वर्ष की उम्र में भी विराट हिंदुस्तान के सर्वश्रेष्ठ फील्डर हैं। उनके जैसा बल्लेबाज फिलहाल पूरी दुनिया में कोई नहीं है। ऐसे में अगले 5-6 वर्षों तक वह आराम से टीम इंडिया के लिए तीनों फॉर्मेट में खेल सकते हैं। क्रिकेट जगत का हर रिकॉर्ड किंग तोड़ सकते हैं। माना कि इस वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन सेमीफाइनल में शर्मनाक रहा लेकिन इसके लिए सलामी जोड़ी और खराब गेंदबाजी जिम्मेदार थी। उनकी गलती का हिसाब कोहली से लेना नाजायज है। बीसीसीआई को अपने निर्णय पर पुनर्विचार करना चाहिए। विराट को हर हाल में T-20 इंटरनेशनल मुकाबलों में खेलने का अवसर देना चाहिए।

Related Articles

Leave a Comment