Home विषयमुद्दा डरावनी आवाज़ों से सुभाष छात्रवास के छात्र परेशान, सकते में है जान

डरावनी आवाज़ों से सुभाष छात्रवास के छात्र परेशान, सकते में है जान

by Sharad Kumar
176 views

यह बात है लखनऊ यूनिवर्सिटी के सुभाष छात्रवास की जहाँ आये दिन कुछ न कुछ होता रहता है कभी यहाँ पर दो गुटों में झगड़ा या बमबारी होती है या फिर कुछ और आजकल इसी छात्रवास में वहाँ पर रहने वाले बीए बीएससी के विद्यार्थी एक अजीब सी आवाज़ से खासे भयभीत और परेशान है

 

कई छात्रों ने वहाँ के डीन से लिखित में शिकायत की है की कई दिनों से रात करीब 2 बजे के बाद 2 फ्लोर में कुछ विचित्र और डरावनी आवाज़े आ रही है करीब 125 साल पुराने इस छात्रवास में 2 फ्लोर में 100 कमरे है जहाँ पर बीए बीएससी बीकॉम के विद्यार्थी रहते है इन्ही आवाज़ों के चलते आजकल हॉस्टल में सन्नाटा पसर गया है

 

अब विश्वविद्यालय प्रशासन भी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए हॉस्टल प्रोवोस्ट से रिपोर्ट मांगी है वही कुछ लोग इसे किसी की शरारत या भूत या फिर बुरी आत्मा होने की शंका बता रहे है वहां पर रहने वाले स्टूडेंट्स इन आवाजों से इस कदर परेशान है की अगर रात में किसी भी को लघु शंका भी लग रही है तो वो कमरे से नहीं निकल रहे है राजधानी में लखनऊ विश्वविद्याल परिसर स्थित सुभाष छात्रावास में रहने वाले छात्र पिछले कई दिनों से भय के साये में जीने को मजबूर हैं।

हॉस्टल के छात्रों का कहना है कि रात के 12 बजे के बाद हॉस्टल में घुंघुरू बजने की आवाज आने लगती है। इसके बाद में भूल भुलैया का टाइटल सांग भी बजने लगता है और ना ही रात भर ये छात्र सो पा रहे है स्टूडेंट्स ने विश्व विद्यालय के सुभाष छात्रवास में सुन्दर काण्ड करने की मांग की है

हॉस्टल के छात्रों ने विश्वविद्यालय के चीफ प्राक्टर को लिखा पत्र

चीफ प्राक्टर को दी गई शिकायत में छात्रों ने कहा कि छात्रावास के अंदर भयानक, डरावनी व भूतिया आवाजों की वजह से बहुत डर लग रहा है। रात्रि के जैसे ही एक या दो बजते हैं शैतानी ताकतें और भूत छात्रावास में सक्रिय हो जाते हैं। जिससे सुभाष छात्रावास के सभी छात्र लघुशंका व दीर्घशंका जाने से परहेज करने लगे हैं। जिससे छात्रावास के अंदर बदबू फैल रही है। अत: छात्रावास को भूतिया आवाजों से जल्द मुक्ति दिलाने में सहयोग करें।

जानिये क्या कहा विश्वविद्यालय के चीफ प्राक्टर ने

वहीं छात्रावास के छात्रों की मांग पर विश्वविद्यालय के चीफ प्राक्टर प्रोफेसर राकेश द्विवेदी ने बताया कि प्रकरण को अभिरक्षक व मुख्य अभिरक्षक को सौंपा गया है। उनसे इस पर जवाब मांगा गया है। जैसे ही रिपोर्ट आ जायेगी। उसके बाद सीसीटीवी कैमरा लगवा दिया जाएगा। जिससे सारी की सारी चीजें साफ हो जायेंगी कि हॉस्टल के अंदर भूत है या नहीं है।

 

Related Articles

Leave a Comment