Home नया व्यालोक स्वामी की बोहेमियन का मतलब क्या?

व्यालोक स्वामी की बोहेमियन का मतलब क्या?

by Praarabdh Desk
139 views

बोहेमियन शब्द का अर्थ पूर्वी यूरोपियन और स्लेविक भाषा बोलने वाले बोहेमिया देश में उत्पन्न हुई वस्तु से है, परन्तु धीरे धीरे इस शब्द का प्रयोग उन्नीसवी शताब्दी[1] में फ्रेन्च और अंग्रेजी की बोलचाल की भाषा में उन लोगों के लिए किया जाने लगा जो अपारम्परिक तरीके से रहते हैं और गरीबी और अधिकारहीनता का जीवन जीते हैं जैसे कलाकार, लेखक,पत्रकार,संगीतकार और मुख्य यूरोपियन शहरों में रहने वाले अभिनेता। बोहेमियन शब्द का प्रयोग, बोलचाल की भाषा में, अपरम्परागत अथवा सामाजिक और राजनीतिक रूप से मुख्य विचारधारा से हटकर, सोचने वालों के लिए प्रयोग किया जाता था, जिसे वे लोग उन्मुक्त प्रेम, मितव्ययिता और/अथवा एच्छिक गरीबी के द्वारा व्यक्त करते थे।

 

बोहीमीयनवाद शब्द की उत्त्पत्ती फ्रांस में उन्नीसवी शताब्दी में उस समय हुई जब कलाकार और रचनाकार लोग नीचे तबके के और कम किराए वाले घरों में रोमानी लोगों के पड़ोस में रहने लगे। बोहेमियन शब्द फ्रांस के उन रोमानी लोगों के लिए आम तौर पर प्रयुक्त होता था, जो बोहीमिया होते हुए पश्चीमी यूरोप पहुंचे थे

साहित्यिक रूप से फ्रेंच कल्पना में बोहीमियन लोग घुमंतू रोमानी लोगों से सम्बंधित माने जाते थे  पारंपरिक समाज से हटकर और उनकी असम्मती से बेफिक्र। यह शब्द ऐसे लोगों की ओर संकेत करता है जिनके पास कुछ गुप्त ज्ञान है और साथ ही साथ कभी कभी इसका मकसद यह संकेत देना भी होता है के ये लोग अपनी व्यक्तिगत सफाई और वैवाहिक ईमानदारी के प्रति ज्यादा ध्यान नहीं देते। स्पेन के सेवाइल में फिल्माए गए फ्रेंच ओपेरा कार्मन में जो स्पैनिश रोमानी लडकी दिखाई गयी है, उसे इस गीत नाट्य का पाठ लिखने वाले मेल्हैक और हालेवी ने बोहीमियन करार किया है।

1845 में बोहेमियन नागरिकों ने संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए उत्प्रवास करना प्रारम्भ किया, और फिर 1848 में कुछ उग्र सुधारवादी और पूर्व पादरी भी अमेरिका चले गए, ये वो लोग थे जो एक संवैधानिक सरकार चाहते थे। 1860 में अमेरिकन सिविल युद्ध के प्रारम्भ होने से पहले तक,1857 में न्यू यॉर्क शहर में 15 -20 जवान, सुसभ्य पत्रकारों ने स्वयं को “बोहेमियन”कहना प्रारम्भ किया। अन्य शहरों में भी इसी तरह के समूह तोड़ दिए गए-संवाददाता इस तरह के संघर्ष की रिपोर्ट देने के लिए जगह जगह फ़ैल गए। युद्ध के दौरान संवाददाताओं ने स्वयं को “बोहेमियन,” कहना प्रारम्भ कर दिया और अखबार वालों ने स्वयं को मोनिकर कहना प्रारम्भ कर दिया। बोहेमियन अखबार लेखक का पर्याय बन गया। 1866 में, युद्ध संवाददाता जुनिउस हेनरी ब्राउन जो न्यू यॉर्क ट्रीब्युन और हार्पर पत्रिका के लिए लिखते थे, उन्होंने स्वयं को और अपने जैसे कुछ उल्लासित पुरुष और निश्चिन्त महिलाओं को जिनसे वे युद्ध के दिनों में मिले थे, को बोहेमियन कहा

सैन फ्रांसिस्को के पत्रकार ब्रैट हार्ट ने सबसे पहले 1861 में गोल्डन एरा में “दा बोहेमियन” के नाम से लिखा था, इस छवि के साथ उन्होंने कई व्यंग्य लिखे, ये सभी व्यंग्य 1867 में उनकी किताब बोहेमियन पेपर्स में प्रकाशित हुए। हार्ट ने लिखा,”बोहेमिया को कभी भी भौगोलिक तौर पर स्थापित करने की कोशिश नहीं की गयी, लेकिन किसी भी दिन जब आकाश साफ़ हो और सूरज अस्त हो रहा हो, यदि आप टेलीग्राफ पहाडी पर चढ़ेंगे, तो पश्चिम में आप इसकी मनोहर घाटी और बादलों से आच्छादित पहाड़ियों को देखेंगे. 1867 में मार्क ट्वेन ने स्वयं को और चार्ल्स वार्रेन स्टोद्दार्ड को बोहेमियन की श्रेणी में रखा। 1872 तक, पत्रकारों और कलाकारों का एक समूह जो सैन फ्रांसिस्को में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए इकट्ठा होता था जब अपने समूह के लिए नाम की तलाश कर रहा था, तब “बोहेमियन” शब्द एक मुख्य विकल्प बन कर उभरा, और इस तरह से बोहेमियन क्लब का जन्म हुआ। क्लब के सदस्य अपने समुदाय के प्रतिष्ठित और सफल लोग थे और सम्मानित परिवार वाले थे उन्होंने बोहेमियन शब्द को अपनी तरह से पुनः परिभाषित किया और उन लोगों को इसमें शामिल किया जो खिलाड़ी थे, जिनकी कला और अन्य सृजनात्मक वस्तुओं में दिलचस्पी थी और जो श्रेष्ठ कलाओं को पसंद करते थे

इस शब्द को विविध कलाकार और शैक्षिक समुदायों से जोड़ कर देखा जाता है और सामान्य तौर पर इसे एक व्यापक विशेषण के तौर पर कलाकारों, परिप्रदेश अथवा स्थितिओं के लिए प्रयुक्त किया जाता है:?अमेरिकन कॉलेज डिक्शनरी में बोहेमियन (अनौपचारिक रूप से बोहो) की परिभाषा है,”ऐसा व्यक्ती जिसमे कलात्मक या बौधिक प्रवृत्ती हो, और जो पारंपरिक व्यवहार की चिंता किये बिना रहता हो और कार्य करता हो।

Related Articles

Leave a Comment