Home विषयइतिहास मंगल पांडे नहीं मातादीन बाल्मीकि ने रखी थी 1857 क्रांति की नींव

मंगल पांडे नहीं मातादीन बाल्मीकि ने रखी थी 1857 क्रांति की नींव

by Praarabdh Desk
183 views
शहीद क्रांतिकारी 1857 की क्रांति की नींव रखने वाले असली नायक मातादीन बाल्मीकि को पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि।
मातादीन मल्लयुद्ध के शौकीन थे, वही मंगल पांडेय भी अखाड़े में आया करते थे
एक दिन गर्मी से तर–बतर, थके–मांदे, प्यासे मातादीन ने
मंगल पाण्डे से पानी का लोटा मांगा
लेकिन मंगल पाण्डे ने इसे एक अछूत का दुस्साहस समझते हुए उन्हें झिड़क दिया और कहा, ‘अरे भंगी, मेरा लोटा छूकर अपवित्र करेगा क्या?’
फिर क्या था, इस अपमान से जले मातादीन ने वो राज खोल दिया, जो सालों से दबा हुआ था और जिसने 1857 की क्रांति की नींव रख दी
मातादीन ने मंगल पांडे को ललकार दिया और कहा कि ‘
पंडित, तुम्हारी पंडिताई उस समय कहा चली जाती है जब
तुम और तुम्हारे जैसे चुटियाधारी गाय और सूअर की चर्बी
लगे कारतूसों को मुंह से काटकर बंदूकों में भरते हो?
उस समय कारतूस को बन्दूक मे भरने से पहले मुंह से खोलना होता ता जिसपर गाय एंव सूअर की चर्बी लगी होती थी
’ यही वह शब्द थे जिन्होंने 1857 की क्रांति को जन्म दिया
यह सुनकर मंगल पांडे सन्न रह गये। जल्दी ही मातादीन की ये बात हर बटालियन और हर छावनी में फैल गई। मातादीन के कहे कड़वे सच ने सेना में विद्रोह के हालात पैदा कर दिए
मंगल पांडे ने 1857 की क्रांति मैं हिस्सा लिया वह राष्ट्र के लिए नहीं अपने लिए उन्होंने क्रांति में हिस्सा लिया था। क्योंकि उन्हें गाय और सुअर की चर्बी से बने कारतूस मुंह से खोलना नागवार गुजरा।
जिधर देखो उधर मंगल पांडे मंगल पांडे ही दिखाई देते हैं क्योंकि जातिवादी इतिहासकारों ने सिर्फ मंगल पांडे को ही 1857 की क्रांति का मुखिया बना दिया और उन तमाम लोगों के संघर्ष को दबा दिया जिन्होंने 1857 की क्रांति में बलिदान दिया
मंगल पांडे को फांसी देने की बात सभी जानते हैं लेकिन एक सच से तमाम लोग आज भी अंजान हैं।
विद्रोह फैलाने के जुर्म में अंग्रेजों ने मातादीन को भी
गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद मातादीन को भी अंग्रेजों ने फांसी पर लटका दिया था।
इस तरह मातादीन बाल्मीकि ने जो चिंगारी लगाई थी, आखिरकार वो चिंगारी सन् 1947 में भारत की आज़ादी की वजह बनी।
आज मातादीन बाल्मीकि की पुण्यतिथि है उनकी पुण्यतिथि पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि

Related Articles

Leave a Comment