Home मीडिया मोहाली चंडीगढ़ प्राइवेट यूनिवर्सिटी MMS कांड

मोहाली चंडीगढ़ प्राइवेट यूनिवर्सिटी MMS कांड

by Sharad Kumar
44 views

किसी को पाने की इच्छा इतनी तीव्र हो जाती है की लोगो को यह समझ में नहीं आता की वो जो काम कर रहे है या करने जा रहे है वो काम इतना गलत है की उससे आपकी जिंदगी तो प्रभावित हो ही जाएगी साथ में और भी लोग आपके उस काम की वजह से मानसिक या शारीरिक रूप से प्रभावित होंगे चंद पैसो और हवस के चलते ऐसा ही कुछ चंडीगढ़ मोहाली की पड़ने वाली एक छात्रा ने एक युवक की बातो में आकर अपने ही साथ रहने और पढ़ने वाली 60 लड़कियों का नहाते वक़्त वीडियो बनाया और उसे उस लड़के की मदद से सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया

इस मामले से छात्र-छात्राओं से लेकर उनके पैरेंट्स तक परेशान हैं। सबका यही कहना है कि जब एक यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में ऐसी चीजें हो सकती हैं, तो ये कहीं भी और किसी के साथ हो सकता है। हर कोई जानना चाहता है कि इतनी बड़ी घटना कैसे हो गई? आखिर क्यों छात्रा ने अपने हॉस्टल की अन्य लड़कियों के वीडियो बनाए और उसे अपने दोस्त के पास भेजा?

यह लड़की उसी यूनिवर्सिटी में एमबीए की छात्रा है बहरहाल पुलिस ने छात्रा को गिरफ्तार कर लिया है और उस गर्ल्स हॉस्टल की वार्डन को भी हटा दिया गया है अब लोग उस छात्रा की मनोदशा का पता लगाने की कोशिश कर रहे की आखिर क्यों वो इस तरह से बाकी लड़कियों की वीडियो बनाती रही जबकि वो खुद एक लड़की है जिस छात्रा ने यह कांड किया है उसकी उम्र लगभग 23 वर्ष की है

कैसे वीडियो बनाती थी छात्रा?

अभी तक की जांच में जो सामने आया है, उसके अनुसार आरोपी छात्रा बाथरूम के दरवाजे के नीचे से वीडियो बनाती थी। शनिवार को आरोपी इसी तरह एक दूसरी लड़की का वीडियो बना रही थी, तब कुछ अन्य छात्राओं ने उसे पकड़ लिया। उन्होंने इसकी शिकायत वार्डन से की। दावा है कि पूछताछ में आरोपी छात्रा ने माना कि उसने कुछ वीडियो बनाकर भेजे हैं। एक वायरल वीडियो में भी वह वार्डन के सामने भी यह बात स्वीकार कर रही है। वहीं मोहाली के एसएसपी विवेकशील ने दावा किया कि छात्रा के मोबाइल से सिर्फ उसी का वीडियो मिला है। अन्य किसी छात्रा का वीडियो नहीं मिला है।

पंजाब पुलिस ने तीन सदस्य की एस आई टी टीम गठित की है जो इस पूरे मामले की जांच करेगी और शुरूआती दौर की जांच में अभी तक तीन लोगो की गिरफ्तारी के साथ दो वार्डन को निलंबित भी किया जा चुका है

क्या है अब तक का सच

पुलिस अधिकारी नवरीत सिंह विर्क के अनुसार आरोपी लड़की के मोबाइल से अभी तक उनको सिर्फ चार वीडियो ही मिले है जो की खुद उस लड़की के है तो इस हिसाब से साठ वीडियो वायरल होने की बात महज सिर्फ अफवाह है इतना ही नहीं चार छात्राओं के आत्महत्या करने वाली बात भीअफवाह है पुलिस ने न ही किसी भी सोशल अकॉउंट में या साइट पर वीडियो पायी है इसके साथ ही पुलिस ने बाकी लड़कियों से भी बोला है की अगर किसी के पास कोई वीडियो है तो बताये हमें लेकिन अभी तक किसी भी लड़की ने कोई वीडियो पुलिस को नहीं दिया है अभी फिलहाल लड़की के फ़ोन की फोरनेंसिक जांच कराई जा रही है ताकि अगर कुछ भी फ़ोन से डिलीट किया गया हो तो उसका पता लग सके आरोपी लड़की ने बताया कि, वो लड़का उससे जबरन यह काम करवाता था। लड़के को भी पुलिस ने शिमला से गिरफ्तार कर लिया है

Related Articles

Leave a Comment