Home लेखक और लेखअजीत सिंह ममता याद है ? : उदयन की ममता

ममता याद है ? : उदयन की ममता

by Ajit Singh
856 views
ममता याद है ?
उदयन की ममता …….
किसी ज़माने में वो हमारी poster girl हुआ करती थी ।
बेहद आक्रामक , Rebillious , अपने हक़ के लिये लड़ने वाली , आवाज़ उठाने वाली …..
एक बार भिलाई से अरविंद भैया ने 5 किलो काजू कतली भेजी । सबके हिस्से दो दो पीस आयी ।
ममता को दो पीस काजू कतली मिली तो वो भड़क गई ।
ई कवन मिठाई हौ …..हेत्ति सी ….. और उसने फेंक दी …. वो पतली सी काजू कतली उसे समझ न आई ….
उस दिन मैंने पोस्ट लिखी की भैया लोग आज के बाद उदयन में आना तो सिर्फ और सिर्फ लौंगलता लाना ।
मने मिठाई ऐसी जिससे हाथ भर जाए और एक पीस खा लो तो पेट भर जाए । य्ये काजू कतली की नफासत उदयन में नही चलती ।
बहरहाल , उस ममता का सिर्फ 13 साल में विवाह कर दिया गया । वो अपनी ससुराल चली गयी ।
पर जब भी अपने मायके आती है तो उदयन में ज़रूर आती है । उदयन उसे हर साल तीज खिचड़ी भेजता है ।
उसके हिस्से के सारे गर्म कपड़े , कम्बल , साड़ियां सम्हाल के रख लेते हैं और जब आती है तो उसे दे के विदा कर देते हैं । इस बार जब lockdown के दौरान आयी तो उसे यहां घर के लिए डेली ज़रूरत का राशन दिया था ।
उसकी फोटो Fb पे शेयर की थी ।
जब आप Crowd Funding से चलने वाला कोई सेवा कार्य करते हैं तो अपनी activities की Pics और Videos सोसल मीडिया पे शेयर करते हैं ।
अब उन pics और Videos को देख के दो किस्म की प्रतिक्रिया आती है ।
कुछ लोग कहते हैं कि सेवा कर रहे तो इसका ढिंढोरा क्यों पीट रहे हो ?
गरीब की फोटो क्यों दिखा रहे हो ?
किसी गरीब को शर्मिंदा क्यों कर रहे हो ?
किसी गरीब की मदद की और अगर उसकी फोटो खींच ली तो सेवा कार्य zero हो जाता है ?
ममता के केस में भी यही हुआ । कुछ लोगों ने कहा कि Pic क्यों डाली ?
अच्छा अगर कुछ दिन pic video न डालो तो कुछ लोग कहते हैं , हमें क्या पता उदयन चलता भी है ?
लगातार 10 दिन वीडियो बना के डालो तो जानें कि वाकई चलता है ।
दुनिया आपको किसी हाल में चैन से जीने नही देती ।
Ignore Them …..

Related Articles

Leave a Comment