Home राजनीति उत्तरप्रदेश में अखिलेश यादव परिवार की राजनीति

उत्तरप्रदेश में अखिलेश यादव परिवार की राजनीति

178 views
उत्तरप्रदेश में कांग्रेस से भी पहले समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव परिवार की राजनीति का विनाश आवश्यक है क्योंकि इन्होंने एक स्वाभिमानी योद्धा जाति अहीर को जातिवाद के नशे का ऐसा इंजेक्शन लगाया हुआ है कि वे अपना भला बुरा भूल चुके हैं और यहाँ तक कि हिंदुत्व को भी भूलकर उन मु स्लिमों की गलबहियां कर बैठे हैं जो हिंदुत्व के अस्तित्व के भी घोर शत्रु हैं।
मेरी ह्रदयगत कामना है कि यादव बंधु इस विषैले परिवार की मानसिक दासता से बाहर निकलें और भाजपा में शामिल होकर सत्ता में अपनी न्यायोचित भागीदारी प्राप्त करें।
मुझे डर है कि अगर वे अब चूक गए तो बुरी तरह आइसोलेट हो जायेंगे और उनके भाग को अन्य पिछड़ी व दलित जातियां ले लेंगी।
दलितों विशेषतः जाटवों में भाजपा की ओर मुड़ने की यह प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और अन्य पिछड़े जैसे कुर्मी, कोइरी आदि पहले ही भाजपा में प्रबल हो चुके हैं।
इससे पहले कि देर हो जाये, भगवान कृष्ण इस योद्धा जाति को सद्बुद्धि दें और औरंगजेब के चेलों से मुक्ति भी ताकि उनमें भी हिंदुत्व की अग्नि प्रज्वलित हो।
जिस दिन ऐसा हो जाएगा हिंदुओं की सत्ता अंगद का पाँव बन जाएगी।

Related Articles

Leave a Comment