Home लेखक और लेखअजीत सिंह पुराने ज़माने की फिल्मे और आज का फेसबुक

पुराने ज़माने की फिल्मे और आज का फेसबुक

by Ajit Singh
806 views
पुराने जमाने की फिल्मों में एक Hero होता था ।
वो सर्वगुण सम्पन्न होता था ।
सुंदर सजीला , Romantic
शहर की सबसे सुंदर लौंडिया Set कर लेता था ।
उसके साथ नाचता , गाने गाता था ।
एक Villain होता था । उसकी Hero के मारे G सुलगती रहती थी । उसकी G से हमेशा काला धुआं निकलता और वो बवासीर का खून छेरता था ।
सारी जिनगी किलसता था । Hero के खिलाफ साजिश करता रहता था ।
पर Hero अपनी ज़िंदगी मे मस्त हिरोइन से Romance करता खुश रहता था ।
Villain अपने गुंडे भेजता तो Hero इकल्ला 8- 10 को पीट देता और उसके खुद के बालों का हेयर इश्टाइल तक न बिगड़ता ।
फिर पूरी फिल्म में जब Villain हीरो की झांT नही उखाड़ पाता तो वो Hero के बच्चे को , हीरोइन को , और Hero की माँ को पकड़ लाता है और अपने अड्डे पे रस्सियों से बांध देता है ।
फिर वो Hero से कहता है , पिस्तौल फेंक के सामने आ जाओ वरना तुम्हारे बच्चे को गोली मार दूंगा , तुमाई बीबी को गोली मार दूंगा , तुमाई माँ को मार दूंगा ।
जे Qutiया फेसबुकिये villain भी जब मेरी J नही उखाड़ पाते तो जब देखो तब उदयन के बच्चों के सिर पे कट्टा सटा देते हैं ।
गीलागू सेठ कल मेरी 80 साल की बूढ़ी माँ को उठा लाये अपनी wall पे …… मेरे घर के लोग लुगाइयों को घसीट लाये …….
और कितना गिरोगे गीलागू सेठ ?????????

Related Articles

Leave a Comment