Home हमारे लेखकआशीष कुमार अंशु बिहार पंचायत को मिलने वाली धनराशि एवम खर्चे

बिहार पंचायत को मिलने वाली धनराशि एवम खर्चे

by Ashish Kumar Anshu
279 views

बिहार में प्रत्येक साल लगभग एक करोड़ रुपए हर एक मुखिया को मिला अपने पंचायत में खर्च करने के लिए। पांच सालों में हुआ पांच करोड़। यदि पांच-पांच करोड़ रुपए प्रत्येक पंचायत में खर्च हो जाए फिर बिहार का कायाकल्प ना हो जाए।

 

मेरे एक परिचित ने बिहार में सभी पंचायतों के खर्च का पिछले पांच सालों का लेखा जोखा सूचना के अधिकार कानून से निकलवाया। सभी पंचायतों में जाकर देख पाना कठीन है कि कितना खर्च हुआ और कितना काम हुआ। लेकिन दुर्भाग्य की बात है – पूरे बिहार में कोई मुखिया अभी तक इस हैसियत में दिख नहीं रहा है जो कह सके कि जितना पैसा मिला। एक – एक पैसा मैने पंचायत के विकास पर खर्च किया है।

 

बिहार के गांवों से आने वाले मित्र बताएं कि क्या उनके गांव के मुखिया सामने आकर कह सकते हैं कि करा लो जांच जितना पैसा लिया है। एक-एक पैसा खर्च किया है। या आप ऐसे किसी भी मुखिया को जानते हैं जो सामने आकर कहे कि करा लो जांच।

 

विचार करने वाली बात यह है कि जब हम अपने पंचायत को भ्रष्टाचार से नहीं बचा पा रहे फिर देश को बचाने की बात करते हुए ​हम सब कितने ‘बेशर्म’ से नहीं लगते। बिहार के हम युवा देश भर में या देश के बाहर जाकर अपनी सक्रियता का लोहा मनवा रहे हैं, लेकिन अपने प्रदेश की स्थिति ऐसी क्यों है? यह सोचने तक का वक्त नहीं है हमारे पास।

Related Articles

Leave a Comment