Home हमारे लेखकदयानंद पांडेय उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में सपा के अखिलेश यादव की कोर्निश बजाएंगे

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में सपा के अखिलेश यादव की कोर्निश बजाएंगे

145 views
उदास और हताश कामरेड जन ने तय किया है कि उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में सपा के अखिलेश यादव की कोर्निश बजाएंगे। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के राहुल गांधी का ईगो मसाज करेंगे। एन जी ओ फंडिंग से महरुम कामरेड लोग अब पोलिटिकल फंडिंग के फेर में पड़ गए हैं। यानी वैचारिकी की ओखली में मुंगेरी लाल के हसीन सपने , भाजपा के मूसलों से कूटे जाएंगे। कुचले जाएंगे। मतदाताओं का रुझान फ़िलहाल यही है। क्या उत्तर प्रदेश विधान सभा , क्या लोक सभा। अभी जल्दी ही 29 जनवरी को एक लंबा लेख लिखा ही था मैं ने कि तो क्या अखिलेश यादव ने कांग्रेस से भी ज़्यादा फंडिंग कर दी है इन सेक्यूलर फ़ोर्स के सिपहसालारों को ! आज लखनऊ के एक कामरेड ने अखिलेश के साथ फ़ोटो सहित अपनी एक पोस्ट से यह सिद्ध कर दिया है। अब अलग बात है न राहत यहां है , न वहां। भारतेंदु हरिश्चंद्र ने लिखा ही है :
किसी पहलू नहीं आराम आता तेरे आशिक़ को
दिल-ए-मुज़्तर तड़पता है निहायत बे-क़रारी है।
शुभकामनाएं , कामरेड लोगो ! एक समय कामरेड हरिकिशन सिंह सुरजीत तो मुलायम के पेरोल पर थे। खुल्ल्मखुल्ला। पर यह तो अखिलेश यादव हैं। फिर जो अपने बाप मुलायम का नहीं हुआ , चाचा शिवपाल का नहीं हुआ , कामरेडों का भी भला क्या होगा। बल्कि क्यों होगा ? पचासी हमारा है , पंद्रह में भी बंटवारा है का जहर उगलने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य का सारा विष , सारा जोश-खरोश और खनक , दो हफ़्ते में ही फिनिश हो गया है। भाजपाई वोटों की खनक ने पड़रौना छोड़ कर फाजिल नगर जाने को अभिशप्त कर दिया है। फाजिल नगर में भी फजीहत साफ़ दिखाई दे रही है। 70 हज़ार एकमुश्त मुस्लिम वोटर भी फाजिलनगर में मौर्य की जीत को आश्वस्त नहीं कर पा रहे हैं। 85 और 15 की आग समाप्त हो गई है। अखिलेश ने अब नेता से प्रजा बना दिया है स्वामी प्रसाद मौर्य को। नेवला भी नहीं रह गए मौर्या। जगजीत-चित्रा ने ज़मीर काज़मी की एक ग़ज़ल गाई है , याद आ रही है :
बड़ी नाज़ुक है ये मंज़िल मोहब्बत का सफ़र है
धड़क आहिस्ता से ऐ दिल, मोहब्बत का सफ़र है
कोई सुन ले ना ये क़िस्सा, बहुत डर लगता है
मगर डरने से क्या हासिल, मोहब्बत का सफ़र है
बताना भी नहीं आसाँ, छुपाना भी कठिन है
ख़ुदाया किस कदर मुश्किल, मोहब्बत का सफ़र है
उजाले दिल के फैले हैं, चले आओ ना जानम
बहुत ही प्यार के काबिल, मोहब्बत का सफ़र है

Related Articles

Leave a Comment