Home लेखक और लेखअजीत सिंह एक घुमक्कड़ी ग्रुप में एक भाई ने बड़े कातर स्वर में पुकारा

एक घुमक्कड़ी ग्रुप में एक भाई ने बड़े कातर स्वर में पुकारा

by Ajit Singh
94 views
एक घुमक्कड़ी ग्रुप में एक भाई ने बड़े कातर स्वर में पुकारा है …… बोलता है मनाली में एक हफ्ते से हूँ …… भूखा मार डाला है मनाली ने ……. Old Manali में कोई बढ़िया ढाबा बताओ …….
सच ये है कि ज़्यादातर बड़े hill Stations का खाना निराश करता है । खासकर वो जो बहुत दूर हैं plains से ……
पर मनाली इसमे अव्वल है ।
मनाली में देश का सबसे घटिया खाना मिलता है ।
ऐसे में हम लोग क्या करते हैं कि वो अड्डे खोजते हैं जहां Tourist नही बल्कि Locals खाना खाते हैं ।
Locals के ढाबे अलग होते हैं ।
वहां देसी भोजन की शानदार थाली मिलती है बेहद सस्ते दाम में ।
वैसे ये बड़े Hill Stations एक दो दिन बिताने के लिये सही होते हैं । लंबी छुट्टी है , हफ्ते दस दिन या महीने की तो शहर से दूर गांव की तरफ जाओ ।
एक तो कमरा सस्ता मिलेगा ।
ऊपर से खाना ।
हम मनाली से 100km पहले Jibhi Valley में महीनों रहे हैं । गांव का नाम था घियागी …… 3000 से 6000 रु महीने का कमरा …….. यानी 100- 200 रोज़ाना …… लंबा टिकना है तो अपना खाना खुद बनाओ …… ज़्यादातर मकानमालिक किचन दे देते हैं । देसी गाय का शुद्ध A2 दूध सिर्फ 25 – 30 रु लीटर ….. ताज़ी सब्जी ….. मजे से बनाओ खाओ …..
घियागी गांव में 3 ढाबे हैं ।
60 rs में क्या शानदार थाली खिलाते हैं ।
3 सब्जी , कढ़ी , दाल , रायता , सलाद , रोटी , Rice ….. साथ मे Sweet Dish भी । Unlimited Food ……
Pack करवा लो तो एक थाली में इतना भोजन कि दो लोग छक जाएं ।
यही rate 60- 70 रु आपको कमोबेश हर ग्रामीण देसी ढाबे में मिलेगा ।
मुझे याद है जंजैहली में तो 2017 में एक ढाबा सिर्फ 30 रु में कढ़ी चावल और राजमा चावल देता था । अब 40 का हो गया होगा ।
दो साल पहले जब UK में पुरोला के गांव खड़सारी में महीना भर रुका था तो मेरी landlady 30 रु में Brown Rice के साथ देशी घी डाल के खिलाती थीं ।
उनसे मेरा महीने भर का Rate तय था ।
100 रु रोज़ाना में रूम और 100 रु में 3 time भोजन और चाय ……. अब क्या बच्चे की जान लोगे ?????
अगर Weekend पे जाना है तो मनाली , मसूरी , नैनीताल , डलहौजी ठीक है …… महीने दो महीने को जाना है तो गांव में निकलो …….

Related Articles

Leave a Comment