Home हमारे लेखकआशीष कुमार अंशु यूक्रेन में मरे भारतीय छात्र नवीन शेखरप्पा

यूक्रेन में मरे भारतीय छात्र नवीन शेखरप्पा

by Ashish Kumar Anshu
242 views
उनके अभिभावक ने दो बातें कहीं, लेकिन शेखरप्पा परिवार को दिए जा रहे सांत्वना के दर्जनों संदेशों से गुजरने के बाद मुझे एक भी संदेश में उनके उन बातों का अंश नहीं मिला।
पहली बात कि मेरे बेटे को भारत में एडमिशन क्यों नहीं मिला? उसने 92 प्रतिशत अंकों से 12वीं की थी। वह आरक्षण की बात कर रहे थे। उन्हें लगता है ​कि उनका बेटा आरक्षण का शिकार हुआ है। यदि आरक्षण नहीं होता तो उनके बेटे को भारत में एडमिशन मिल सकता था।
दूसरी बात उन्होंने डोनेशन और भारतीय शिक्षा की स्थिति पर भी सवाल उठाए हैं। आरक्षण वाला सवाल छोड़ दिया जाए तो उनके बाकि मुद्दों पर केन्द्र सरकार भी पिछले दिनों गंभीर नजर आई।
केन्द्र सरकार भी चाहती है कि शिक्षा पर हजारों करोड़ रुपए जो भारत के बाहर जा रहे हैं हर साल। वह पैसा भारत में निवेश हो और इतने दूर जा रहे बच्चों के पास परिवार का साथ बना रहे।
**** ****** ***** ***** ***** *****
अब एक खबर मोदी सरकार के काम काज का हर समय विरोध करने वालों के लिए। यूक्रेन पर हमले के विरोध में रूस पर लगाई जा रही पाबंदियों के तहत गूगल पे, ऐपल पे ने काम करना बंद कर दिया है। अब रूस के मेट्रो स्टेशनों समेत अन्य सार्वजनिक स्थलों पर लंबी लाइनें लग रही हैं।
रूस में और अब धीरे—धीरे भारतीय महानगरों में भी डिजिटल पेमेंट का आदि होकर लोगों ने कैश रखना छोड़ दिया है, ऐसे में पेमेंट सर्विस बंद होने से गंभीर समस्या पैदा हो गई है। दूसरी तरफ भारत अब ऐसी स्थिति से निपटने के लिए पहले से तैयार है भारत के पास अपना पेमेंट सिस्टम है।
इसके लिए मोदी सरकार की वाहवाही हो रही है और ट्विटर पर Rupay ट्रेंड कर रहा है।

Related Articles

Leave a Comment