Home लेखक और लेखअजीत सिंह राज्य में टोटी चोर और केंद्र में मौनी बाबा : नवंबर 2013

राज्य में टोटी चोर और केंद्र में मौनी बाबा : नवंबर 2013

by Ajit Singh
900 views
मितरों …… आज से लगभग 9 साल पहले , Nov 2013 में उदयन शुरू किया था ।
तब UP में टोंटी चोर की सरकार थी और केंद्र में मौनी बाबा की ।
Oct 2013 में ,जब अभी उदयन शुरू भी नही हुआ था , अभी तो बस बातचीत विचार विमर्श ही चल रहा था , तो एक सज्जन ने मुझे ” चंदाचोर ” घोषित कर दिया था ।
मने गालियाँ तो उदयन शुरू होने से पहले ही पड़ने लगी थीं ।
खैर साहब , Nov 2014 में उदयन शुरू हुआ और बड़ी धूमधाम से शुरू हुआ ।
तब से लेकर March 2020 तक , जब तक कि Lockdown नही लगा , उदयन की रसोई कभी बंद नही हुई । Lockdown के दौरान भी उदयन ने बच्चों को Dry Ration , दालें , सब्जी , आलू प्याज , तेल , मसाला , Sugar , Tea उपलब्ध कराया ।
पिछले 8 साल से हम लगातार उदयन की रिपोर्ट यहां fb पे छापते रहे हैं । सैकडों posts लिखी गईं उदयन पे ।
हज़ारों pics और Videos डाली गईं ।
इसके अतिरिक्त पिछले 8 साल में सैकड़ो फेसबुक friends उदयन में आये । उन्होंने सब कुछ अपनी आंखों से देखा । कई मित्र तो हफ्ता भर उदयन में रहे भी हैं । शायद ही कोई हफ्ता बीता होगा जब कोई मित्र उदयन में न आया हो ।
कई मित्रों ने आ के यहां पढ़ाया भी है । कई Doctor मित्रों ने यहां मेडिकल camp लगाए हैं ।
पर कल न जाने कहाँ से एक गिरोह अचानक प्रकट हुआ और उसने बड़े विचित्र किस्म के नए आरोप लगाने शुरू किए ।
* जब सरकार इतनी कल्याणकारी योजनाएं चला रही है तो उदयन की ज़रूरत ही क्या है ?
* उदयन सरकार को बदनाम करने के लिये चलाया जा रहा है ।
* उदयन चला के इन मुसहर बच्चों को सरकारी कल्याणकारी योजनाओं से वंचित किया जा रहा है ।
* एक सज्जन ने तो बाकायदे जिलाधिकारी तक शिकायत कर दी कि देखो उदयन चला के कितना गैरकानूनी काम किया जा रहा है ।
* एक ने बाकायदे UP Police को Tag कर दिया कि देखो Lockdown में भी स्कूल खोल के उदयन में बच्चों को खाना खिलाया जा रहा है ।
* एक ने लिखा कि भूखे नंगे गरीब बच्चों को दिखा के योगी सरकार को बदनाम किया जा रहा है ।
* एक ने लिखा कि हम कैसे मान लें कि उदयन चलता भी है । लगातार 10 दिन प्रार्थना का वीडियो डालो तब मानेंगे ।
* एक ने लिखा कि 8 साल हो गए ये बच्चे अभी तक बड़े क्यों न हुए ?
* 8 साल से उदयन चल रहा तो ये फिर भी गरीब क्यों हैं ?
* एक ने लिखा कि इनको भोजन की नही बल्कि इनके माँ बाप को Condom की ज़रूरत है ।
* एक ने लिखा कि जब इनके माँ बाप इनको खिला नही सकते तो पैदा क्यों करते हैं ?
* किसी एक ने लिखा कि उदयन को तत्काल बंद किया जाये और अजीत सिंह को गिरफ्तार किया जाए ।
* एक ने लिखा कि सरकारी स्कूल में यूनिफार्म मिलती है तो बच्चे फटेहाल क्यों हैं ?
* एक ने लिखा कि इन सबका तुरंत सरकारी स्कूल में नाम लिखाओ और उदयन को तुरंत बंद करो ।
ऐसे कमेंट करने वाले ज्यादातर लोग ऐसे थे जिनको मैंने कभी इससे पहले Fb पे नही पढ़ा सुना या मेरी किसी पोस्ट पे कमेंट करते नही देखा ।
इतने सारे नए अनजान लोग अचानक कहां से आ गए और उदयन को बंद करने की ऐसी भोथरी दलीलें देने लगे ।
सबसे पहले तो ये नही समझ आया कि दुश्मनी नफरत मुझसे है या उदयन से ?
जो संस्था 8 साल से चल रही और जिसका भौतिक सत्यापन – Social Audit सैकड़ों मित्रों ने स्वयं उपस्थित हो कर , सब कुछ अपनी आंखों से देख के किया और उदयन के क्रिया कलाप की सराहना की , आज उसी उदयन के खिलाफ ऐसा अभियान क्यों ?
और अभियान भी ऐसे लोग चला रहे जो न कभी उदयन आये , न उन्ने कभी कुछ देखा सुना और न कभी एक पैसे की सहायता की …… ऐसे लोग एक सुर में चिल्ला रहे कि उदयन को बंद करो ।
नफरत दुश्मनी करनी है तो मुझसे करो ।
उदयन के बच्चों ने क्या बिगाड़ा है ??????

Related Articles

Leave a Comment