Home विषयअपराध कंझावला कांड – दिल्ली की सड़को पर असुरक्षित महिलाओ का सहारा किसे

कंझावला कांड – दिल्ली की सड़को पर असुरक्षित महिलाओ का सहारा किसे

जुर्म और हत्या अध्याय 13

by Praarabdh Desk
165 views

यह बात है दिल्ली के की जहाँ 31 दिसंबर  2022 और1 जनवरी  2023 के मध्य रात्रि में स्कूटी सवार एक युवती को कार से टक्कर मारी गई थी. हादसे के बाद भी कार सवार युवकों ने अपना वाहन नहीं रोका और कार में फंसी युवती को कई किलोमीटर तक घसीटते हुए ले गए. इस हादसे में युवती की मौत हो गई. जानिये क्या है पूरा मामला

सुल्तानपुरी में शनिवार रात युवती को 10 किलोमीटर तक घसीटने के मामले में इंसानियत भी शर्मसार हो गई। शराब के नशे में धुत आरोपी युवक कार से युवती को घसीटते हुए सुल्तानपुरी से जोंटी गांव, कंझावला तक ले गए। अगले बंपर और पहियों के बीच युवती फंस गई थी। कार में फंसा हुआ शव जब सड़क पर गिरा तो युवक फरार हो गए। रविवार तड़के 4:11 बजे राहगीरों ने सड़क पर युवती का शव देखकर पुलिस को खबर दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जब युवती का शव देखा तो दिल दहल गया। शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था। पिछला हिस्सा सड़क की रगड़ लगने से जलकर गायब हो चुका था। शरीर में खून की एक भी बूंद नहीं बची थी।
मामले की जांच कर रहे पुलिसकर्मियों ने बताया कि उन्होंने जीवन में इतना भयानक हादसा कभी नहीं देखा। आरोपी नए साल की पार्टी करने के लिए मुरथल गए थे। आरोपी वापस ग्रे कलर की कार से मंगोलपुरी लौट रहे थे। सुल्तानपुरी में स्कूटी सवार 20 साल की युवती कार की चपेट में आ गई।

इसके बाद आरोपी कार से युवती को करीब 10 किलोमीटर तक घसीटकर ले गए। करीब 3:24 बजे सुल्तानपुरी थाना पुलिस को कार में बांधकर युवती को घसीटने की खबर मिली थी। गश्त पर मौजूद एसएचओ मौके पर पहुंचे तो युवती की स्कूटी सुल्तानपुरी में मिल गई। अभी जांच चल ही रही थी कि 4:11 बजे रोहिणी के कंझावला में युवती को कार से घसीटने की कॉल मिली।
बाहरी जिला पुलिस भी जोंटी गांव पहुंच गई। यहां युवती का शव बरामद हो गया। शरीर की शायद ही कोई ऐसी हड्डी बची हो जो न टूटी हो। एक पैर भी गायब था। दूसरा पैर पूरी तरह टूटकर घूम चुका था। पीठ में रगड़ लगने से शरीर में गड्ढा हो गया था। पीछे की ओर से शरीर के अंदरूनी अंग भी गायब थे।
माना जा रहा है कि युवती के शव और उसके कपड़ों के हिस्से सुल्तानपुरी से जोंटी गांव तक फैल गए। पुलिस की एक टीम रविवार को सुल्तानपुरी से घटनास्थल तक जांच के लिए पहुंची। पुलिस ने इस दूरी के दौरान मौके से अवशेष जुटाए। आरोपियों की कार का मैकेनिकल निरीक्षण करवाने की तैयारी की जा रही है।

मामले में नया मोड़

कार से टक्कर के बाद लड़की के साथ हुई दरिंदगी के मामले में पुलिस जांच में नया मोड़ सामने आया है. जिस होटल में पार्टी थी, उसके मैनेजर अमित का दावा है कि दोनों आपस में लड़ाई के बाद वहां से निकली थीं. वहीं पुलिस ने जांच में बताया कि घटना के दौरान युवती के साथ स्कूटी पर उसकी सहेली भी मौजूद थी लेकिन कार से टक्कर के बाद उसे हल्की चोटें आयीं और डर के कारण घटना स्थल से भाग गयी थी.

अब इस मामले में ओयो होटल के मैनेजर अमित ने एक खुलासा किया है, अमित के अनुसार, दोनों लड़कियां शाम 7.30 के आसपास आई थीं. वे रात 1.15 बजे के आसपास होटल से निकलींमैनेजर ने बताया कि यहां पहले भी ये दोनों लड़कियां आती थीं. और उस रात भी दोनों ने यहीं एक कमरा बुक किया था. दोनों के बीच झगड़ा हुआ, जिसके बाद वह वहां से चली गई. होटल के मैनेजर ये भी कहा कि दोनों लड़कियां नशे की हालत में थीं.

पुलिस पूछताछ में ये बात सामने आई है कि दोनों लड़कियां पार्टी से एक साथ निकली थी. इसका एक सीसीटीवी सामने आया है, जिसमें लड़कियां स्कूटी पर बैठ कर जा रही है. रात 1 बजकर 45 मिनट पर एक होटल से अंजलि नए साल की पार्टी करके निकलती दिखाई दे रही है। अंजलि ही वो लड़की है, जिसकी हादसे में मौत हुई थी. पिंक T-शर्ट में अंजलि है, जबकि रेड T-शर्ट में अंजलि की दोस्त निधि है. उस वक्त स्कूटी निधि चला रही है जबकि अंजलि पीछे बैठी हुई है. यहां से निधि स्कूटी चलाकर जाती है.

दिल्ली सुल्तानपुरी क्राइम :

पुलिस की तफ्तीश के मुताबिक वो लड़की भी हादसे का शिकार हुई थी लेकिन उसे मामूली चोटें ही आई थी। बकौल पुलिस जिस वक़्त स्कूटी को बलेनो ने टक्कर मारी थी वो छिटक कर दूर गिर गई थी जबकि अंजलि के ऊपर बलेनो चढ़ गई थी और उसका पैर गाड़ी के एक्सल में फंस गया, उसके बाद वो कार में ही फंसी रही और कार बेलगाम होकर दिल्ली की पथरीली सड़कों पर बेरोकटोक दौड़ती रही। और नीचे एक्सल में फंसी अंजलि तिल तिल कर मरती रही।

इस बीच स्कूटी पर पीछे बैठी अंजलि की दोस्त हादसे के वक़्त छिटक कर दूर गिरी और उसे मामूली चोटें आई थी। पुलिस ने जब उसका पता लगाया और उससे पूछताछ की तो पता चला कि वो डर के मारे वहां से भाग निकली थी। और मारे डरके उसने किसी को कुछ नहीं बताया था।

असल में जांच के दौरान दिल्ली पुलिस को कम से कम 6 से 7 ऐसे सीसीटीवी हाथ लगे जिसमें अंजलि और उसका मूवमेंट नज़र आ रहा था. इसी बीच एक ऐसा सीसीटीवी नज़र आया। जिसमें रात के 1.52 बजे थे. उस फुटेज में अंजलि के साथ एक और लड़की नज़र आ रही है जबकि साथ में दो तीन लड़के भी दिखाई पड़ रहे रहे हैं.

किलर बलीनो कार

उसी सीसीटीवी में नज़र आ रहा है कि अंजलि ने अपनी स्कूटी निकाली। लेकिन निधि ने स्कूटी चलाई जबकि अंजलि पीछे बैठ गई। खुलासा हुआहै कि मंगलवार की रात अंजलि अपने दोस्तों के साथ एक होटल में एक बर्थडे पार्टी में शामिल होने के लिए गई थी। होटल से भी अंजलि की मौजूदगी की पुष्टि हुई। पुलिस अब उस रात बर्थडे पार्टी में शामिल बाकी लोगों से भी पूछताछ करेगी।

इसी बीच ये बात भी सामने आ गई कि आरोपी दीपक पूरे समय कैरिज वे पर ही गाड़ी चलाता रहा जिसकी वजह से वो पुलिस पिकेट्स और पुलिस चौकी से बचता रहा। पुलिस की तफ्तीश का खुलासा यही है कि दीपक को पूरे रास्ते का अंदाजा था तभी उसने पुलिस पिकेट से पहले ही गाड़ी को यू टर्न दे दिया था। और पूरे समय 50 किलोमीटर की रफ्तार से गाड़ी दौड़ाता रहा।

Related Articles

Leave a Comment