Home चलचित्र Shahzada Film Review

Shahzada Film Review

Omlavaniya

by ओम लवानिया
174 views

फिल्म की कहानी

कहानी शुरू होती है, बच्चों की अदला-बदली से जिसे करता है वाल्मीकि (परेश रावल), वाल्मीकि नहीं चाहता था उसका बच्चा गरीबी में पले इसलिए वह अपने मालिक के तुरंत पैदा हुए बच्चे से अपना बच्चे को बदल देता है, और एक शहजादे की किस्मत अपने बच्चे के नाम लिख देता है। समय बितता है और बंटू (कार्तिक आर्यन) बड़ा होता है, इस दौरान उसके नकली पिता वाल्मीकि ने उसे कभी भी प्यार नहीं दिया, लेकिन जल्द ही एक घटना से उसकी जिंदगी पूरी तरह बदल जाती है, जब उसे पता चलता है के वाल्मीकि उसका असली पिता नहीं है।

बंटू अब सब जानता है, और अपने असली घर एक नौकरी लेकर घुस जाता है, और हर मुश्किल से अपनी माँ और पिता को बचाता है, बिना अपनी असली सच्चाई बताये, लेकिन क्या होगा जब बंटू की असलियत उसके असली माँ-बाप को पता चलेगी, यही इस फिल्म की कहानी का प्लॉट है।

शहजादा एक बॉलीवुड एक्शन कॉमेडी फैमिली ड्रामा फिल्म है, जिसका निर्देशन रोहित धवन द्वारा किया गया है। फिल्म में कार्तिक आर्यन और कृति सेनन लीड रोल में नज़र आयें हैं। यह फिल्म सुपरस्टार अल्लु अर्जुन की तेलुगु एक्शन ड्रामा फिल्म ‘अला वैकुंठपुरमुलु’ की हिंदी रीमेक है। कार्तिक और कृति के अलावा इस फिल्म में परेश रावल, मनीषा कोइराला, रोनित रॉय और सचिन खेडेकर जैसे कलाकार भी नजर आयें हैं।

कार्तिक आर्यन की रीमेक ऑफ तेलुगु कंटेंट शहज़ादा आईएमडीबी पर 8.3/10 यूजर रेटिंग के साथ पहले वीकेंड में 20 करोड़ कमा सकी।
8.3 अव्वल दर्जे की रेटिंग होती है मने फ़िल्म शानदार व जानदार है। तो वर्ड ऑफ माउथ भी हाईली पॉजिटिव जनरेट हो रहा होगा। ऐसे में दर्शक क्यों नहीं जा रहे है। जबकि कार्तिक की पिछली फिल्म भूल भुलैया 2 भरे बॉयकॉट ट्रेंड में 200 करोड़ी हुई थी और यकायक आर्यन ए लिस्टर हीरोज में शुमार हो चले थे।
उसके बाद ओटीटी रिलीज फ्रेडी को भी अच्छा रेस्पॉन्स मिला। शहज़ादा में गलती कहां रह गई।
द कश्मीर फाइल्स, भूल भुलैया-2, दृश्यम रीमेक 2 ही 200 करोड़ी रही है। बाकी बड़ी बड़ी फ़िल्में सब बैठ गई थी। बी-टाउन में चिंता की लकीरें उठने लगी…लकीर फेम अन्ना ने बाबा से गुजारिश की थी। कि इसे रोके…फिर पठान ने ऐसा तूफान खड़ा किया। अब तो बी-टाउन पुनः चल पड़ा है सीधे 500करोड़ का क्लब शुरू कर दिया है। आगे पीछे के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले।
सवाल है शहज़ादा की हालत हकीकत है या पठान की सुनामी…कोई एक तो सच है। शहज़ादा का ट्रेंड अगली फ़िल्मों को सताएगा….बाक़ी देखते है।

Related Articles

Leave a Comment