Home विषयकहानिया एक बुरी लड़की की आत्मकथा | प्रारब्ध

एक बुरी लड़की की आत्मकथा | प्रारब्ध

Author - Ajit Singh

by Ajit Singh
325 views
उसने 10 साल तक शादी का झांसा देकर मेरा शोषण किया ।
मैं करवाती रही ।
बाई गोट भोत मजा आता था मेरे कू ।
मेरे साथ जबरदस्ती की ।
मैं करवाती रही ।
मेरा रेप किया ।
मैं रेपाती रही ।
मुझे ब्लैकमेल किया ।
मैं भी मजे मजे से Black का white और White का black करती रही ।
मेरी मजबूरी का फायदा उठाया।
मैं उसको मज बूर ई का प्रॉफिट देती रही ।
10 साल तक उसने मुझे शादी के सपने दिखाए।
मैं देखती रही ।
उसने कहा, नौकरी कर लो जल्द से जल्द शादी कर लेंगे ।
पर मैं कामसूत्र पे PhD करने में इतनी बिजी रही कि मेरी UPSC के L लग गए ।
UPSC के L लगाने में इतनी मगन रही कि उसपर कभी शक न कर सकी और उसके विश्वास पर रही। इसने मेरे विश्वास, मेरी भावनाओं और मेरे प्रेम का फायदा उठाया और मुझे हवस का खिलौना समझ कर इस्तेमाल करता रहा।
पिछले दिनों,मार्च में जब इसने जबरदस्ती मेरे साथ मार पिटाई कर मेरा रेप किया तब मैंने इससे फाइनल जवाब मांगा और जवाब में मुझे चुप्पी मिली, फिर फ़ोन स्वीच ऑफ मिला और फिर पता चला कि बाबू साहब किसी तलाक शुदा महिला, डीएसपी के साथ सात फेरे ले चुके हैं।
बताओ , उसको DySP मिल गयी और हमको कोई होमगार्ड तक नही मिल रहा ।
अब मैंने उसपे 376 में पर्चा दर्ज करा दिया है ।
मुखर्जी नगर Tales ऑफ छिनरपन

Related Articles

Leave a Comment