Home राजनीति ऑस्ट्रेलिया व भारत के प्रशासनिक ढांचे

ऑस्ट्रेलिया व भारत के प्रशासनिक ढांचे

by Umrao Vivek Samajik Yayavar
719 views
बहुत लोगों की इच्छा रहती है ऑस्ट्रेलिया की प्रशासन व्यवस्था के संदर्भ में कुछ जानकारी रखने की। ऑस्ट्रेलिया व भारत के प्रशासनिक ढांचो में बहुत अधिक अंतर है।
उदाहरण स्वरूप ——— भारत की ओर से अमूमन विदेशों में जो राजदूत होते हैं, वे भारत सरकार के सचिव स्तर के अधिकारी होते हैं। जबकि ऑस्ट्रेलिया की ओर से अपवाद देशों को छोड़ विदेशों में जो राजदूत होते हैं वे ऑस्ट्रेलिया सरकार के सचिव स्तर के अधिकारी से कई रैंक नीचे के अधिकारी होते हैं।
ऑस्ट्रेलिया में सचिव मंत्रालय के नहीं, विभाग के होते हैं, एक विभाग कई मंत्रालयों से संबद्ध होता है। नीचे एक विभाग का उदाहरण दे रहा हूं, जिससे दो जानकारियां मिल सकती हैं। एक तो विभाग कैसा होता है, दूसरा अनेक मित्रों की जिज्ञासा रहती है कि हमारी बेगम-साहिबा मतलब आदि की अम्मा किस विभाग में राष्ट्रीय स्तर पर अधिकारी हैं।
जिस विभाग की बात यहां कर रहा हूं, वह 5 मंत्रालयों से संबद्ध है। यह विभाग ऑस्ट्रेलिया सरकार के सबसे महत्वपूर्ण विभागों में से है, तथा निम्न विषय-क्षेत्रों के लिए जिम्मेदार है।
—————
~ ऑस्ट्रेलियन अंटार्कटिक राज्य (कुल अंटार्कटिक महाद्वीप का लगभग 50%) का प्रशासन
~ अंतर्राष्ट्रीय वस्तु विनिमय समझौतों का प्रशासन
~ निवेश निगम
~ हर्ड द्वीप समूह का प्रशासन
~ मैकडानल्ड द्वीप समूह का प्रशासन
~ आयनोस्फेरिक भविष्यवाणी
~ प्राथमिक उद्योग व आर्थिक अनुसंधान
~ कृषि व्यापार, कृषि, मत्स्य पालन और वन उत्पादों का निर्यात व नियंत्रण
~ कृषि, पशुचारण, मत्स्य-पालन, खाद्य और वन उद्योग
~ वन और लकड़ी उत्पाद परिषद
~ राष्ट्रीय भूमिसुधार कार्यक्रम
~ खाद्य सुरक्षा नीति व कार्यक्रम
~ स्थानीय समुदाय नीति समन्वयन
~ मिट्टी व अन्य प्राकृतिक संसाधन
~ सूखा आपदा
~ लघु-उद्योग
~ सतत विकास लक्ष्य
~ जल नीति व संसाधन
~ पर्यावरण जल उपयोग व जल-संसाधन
~ पर्यावरण जानकारी व अनुसंधान
~ पर्यावरण व जैव-विविधता संरक्षण
~ जैव-सुरक्षा, पशु संसाधन व पेड़-पौधे
~ भूमि-संदूषण
~ वायु गुणवत्ता
~ राष्ट्रीय ईंधन गुणवत्ता मानक
~ प्राकृतिक व सांस्कृतिक विरासत
~ शहरी पर्यावरण
~ ऑस्ट्रेलिया का नेचर हब
~ भौतिक पर्यावरण विश्लेषण नेटवर्क
~ राष्ट्रीय प्रदूषण प्राधिकरण
~ राष्ट्रीय पर्यावरण संरक्षण परिषद
~ राष्ट्रीय जंगल निदेशालय
~ ग्रेट बैरियर रीफ समुद्री जंगल प्राधिकरण
~ बेसिन अथारिटीज
~ सिडनी हार्बर फेडरेशन
~ ऑस्ट्रेलियाई मत्स्य प्रबंधन प्राधिकरण
~ ऑस्ट्रेलियाई कीटनाशक और पशु चिकित्सा औषधि प्राधिकरण
~ मौसम विज्ञान ब्यूरो, वातावरण व मौसम विज्ञान
.
(लगभग दो महीनों से हृदय की स्थिति कुछ ठीक नहीं रही, पिछले दिनों कुछ जांचे हुई हैं, आगामी आने वाले कुछ महीनों के समय-काल में क्रमशः कुछ और जांचे होनी हैं। इस बात की जांच होनी है कि निकट भविष्य़ में हार्ट-अटैक की क्या संभावना हो सकती है, फेफड़ों की भी जांच होनी है। इसलिए यदि कुछ-कुछ दिनों तक मेरी कोई पोस्ट आपको नहीं मिले तो यह समझ लीजिएगा कि स्वास्थ्य संबंधी कारण हैं या इसी संदर्भ में कुछ व्यस्तता है। सादर प्रणाम)
.

Related Articles

Leave a Comment