Home विषयभारत निर्माण भारतीय सेना के नए भर्ती Model

भारतीय सेना के नए भर्ती Model

by Ajit Singh
306 views
भारतीय सेना के नए भर्ती Model — अग्निपथ के अग्निवीर पर जितने भी लोग यहाँ सोसल मीडिया में ज्ञानचो Dd रहे हैं उनकी पिछली 7 पुश्त में न तो कोई फौज में गया न अगली 7 पुश्त में कोई जाएगा ।
फौज में किस घर , किस परिवेश , किस समाज के बच्चे जाते हैं , ये देखना हो तो कभी भारत के गांवों में देर शाम धुंधलका होने के बाद सड़क पे गाड़ी चलाते निकल जाइये ।
नंगे पैर और बहुत भाग्यशाली हुआ तो सस्ता Gold Star का जूता पहने युवा सड़कों पे दौड़ते दंड पेलते Pull Ups करते दिख जाएंगे ।
वो जिनके लिये एक अदद देसी सस्ता Sports Shoe ही सबसे बड़ी Luxury है । वो जिनको Diet के नाम पे भर पेट दाल भात रोटी तरकारी ही बड़ी मुश्किल से नसीब होती है ।
ये भी एक बहुत कड़वी सच्चाई है कि अगर फौज की भर्ती निकाल चुके 100 युवाओं को आप यदि राज्य पुलिस का नियुक्ति पत्र दे दें तो शायद 100 में से 99 फौज की अपेक्षा पुलिस या फिर अन्य किसी सरकारी महकमे में Join करना पसंद करेंगे ।
सच ये है कि घर परिवार से दूर Border पे फौज के सिपाही की बेहद कठिन नौकरी कोई नही करना चाहता ।
पेट की आग और परिवार की गरीबी ही मजबूरी में कराती है ।
ये भी एक कड़वी सच्चाई है कि एक बार नौकरी Join करने के बाद बहुत से सैनिक दो चार साल में नौकरी से उकता जाते हैं ।
खासकर जब नया नया विवाह होता है तो नवविवाहिता पत्नी को छोड़ Duty पे जाना बहुत अखरता है ।
Army का Top Brass भी अपनी सेना की इस मनःस्थिति और मजबूरी को समझता है ।
इसके अलावा दुनिया के बहुत से देशों में ये 2 – 4 साल की सेना में अनिवार्य सेवा लागू है और उसी में से उनको अच्छे समर्पित सैनिक मिल जाते हैं । भारतीय सेना ने इन्ही देशों के अनुभव से सीख समझ के ये योजना अपने यहां लागू की है ।
अग्निपथ के अग्निवीर योजना में भर्ती होने वाले युवक युवक 4 साल में बेहतरीन ट्रेनिंग अनुशासन सीख के निकलेंगे ।
सेना अपने काम लायक 25% रख लेगी । शेष 75% सैनिक प्रशिक्षण अनुशासन की आग में तप के निकलेंगे तो उनके हाथ 10 लाख रु और विशिष्ट सेवा का अनुभव होगा जिन्हें Civil Society हाथों हाथ लेगी ।
बाकी रही भर्ती की बात तो इस अग्निवीर योजना में भी गलाकाट प्रतियोगिता रहेगी और 1 पद के लिये 1000 लाइन में खड़े मिलेंगे ।
ये योजना ग्रामीण भारत के लिये है ।
शहरी मध्यमवर्गीय लोग कृपया इसमे ज्ञान न Payलें ।

Related Articles

Leave a Comment