Home राजनीति मायावती के साथ अखिलेश यादव का गठबंधन

मायावती के साथ अखिलेश यादव का गठबंधन

288 views

मायावती के साथ गठबंधन को ले कर अखिलेश यादव ही नहीं तमाम मोदी विरोधी भी बल्लियों उछल गए हैं । 50 से अधिक सीटें भी मिलने का दम भर रहे हैं । यानी कि उत्तर प्रदेश में 25-25 सीटें दोनों को मिलती बता रहे हैं । मायावती ने भी इसी दम पर प्रधान मंत्री बनने का सपना जोड़ लिया है । गुड है । पर दिमाग से दरिद्र लोग मायावती का छत्तीसगढ़ में अजित जोगी से हुए गठबंधन का हश्र भी भूल चले हैं ।

 

 

मायावती-जोगी गठबंधन औधे मुंह गिरा । यह भी कि मध्य प्रदेश में सिर्फ एक विधायक के बूते मायावती सरकार को जिस तरह ब्लैकमेल कर रही हैं , उन की इस ब्लैकमेलिंग की पुरानी कला पर भी लोग चुप हैं । सच तो यह है कि अखिलेश यादव बीते विधानसभा चुनाव में जिस तरह कांग्रेस से समझौता कर , एकमुश्त सौ से अधिक सीटें दे कर राजनीतिक चूक कर बैठे थे , उसी चूक के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए वह लोकसभा चुनाव में मायावती से समझौते के गटर में डूब गए हैं ।

 

 

इतना ही नहीं अपनी ही 38 सीटों में से ही उन्हें अजित सिंह , ओमप्रकाश राजभर , अनुप्रिया पटेल आदि को भी एडजस्ट करने का दबाव है सो अलग । सरकारी घर से टोटी , टाइल चुरा कर ले जाना , अवैध खनन से बेहिसाब कमाई और यादववाद की राजनीति आदि-इत्यादि के कालिख से रंगे अखिलेश सचमुच बहुत मुश्किल में हैं । लेकिन मायावती अब उन के गले घंटी भी बांध चुकी हैं और अपना पट्टा भी । अखिलेश उन की ब्लैकमेलिंग के फंदे में घिर चुके हैं । हाथ और हाथी के भ्रम में घिरे अखिलेश की मति मारी गई है ।

Related Articles

Leave a Comment