Home राजनीति लिबरल क्यों है परेशान अशोक के स्तम्भ से

लिबरल क्यों है परेशान अशोक के स्तम्भ से

Dewendra sikarwar

211 views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन के निर्माण में लगे हुए मजदूरों से भी बात की उन्होंने उनसे बोला की आप लोगो ने राष्ट्र के गौरव को ऊंचा करने में और बढ़ाने में अपना योगदान दिया है आपको इस बात पर हमेशा गर्व रहेगा इस बात का जिक्र प्रधानमंत्री ने अपने दवारा किये गए ट्वीट में भी किया लेकिन

लिबरल्स मोदी विरोध में इतने विक्षिप्त हो गए हैं कि उन्हें किसी मुद्दे पर वास्तविक कमी की पहचान की क्षमता भी समाप्त हो चुकी है।

 

इस राष्ट्रीय प्रतीक में मूर्तिकलागत अनुपात, सौंदर्य व कलात्मकता की बात होती, तो एक स्वस्थ आलोचना हो सकती थी। सरदार की मूर्ति में भी सरदार पटेल लौहपुरुष के स्थान पर झुके कंधों वाले थकेमांदे व्यक्तित्व दिखते हैं।

 

लेकिन जिनका मस्तिष्क मोदीफोबिया से ग्रसित हो, उनसे स्वस्थ आलोचना की उम्मीद की भी कैसे जा सकती है।

Related Articles

Leave a Comment