Home नया डॉन की मिली डायरी खुले कई राज हजारो करोड़ो के नेटवर्क की है फेहरिस्त जुडी है कई हस्तिया

डॉन की मिली डायरी खुले कई राज हजारो करोड़ो के नेटवर्क की है फेहरिस्त जुडी है कई हस्तिया

by Praarabdh Desk
133 views

माफिया अतीक अहमद के ससुर के घर हुई छापेमारी के दौरान पुलिस को एक डायरी बरामद हुई है, जिसमें अतीक के कई करीबियों और मददगारों के नाम दर्ज हैं. इस डायरी में पांच राज्यों में अतीक के फैले हजारों करोड़ के कारोबार की फेहरिस्त शामिल है. रियल स्टेट और होटल के कारोबार से जुड़े अतीक के करीबियों का भी जिक्र है.

एसटीएफ की छापेमारी में अतीक अहमद के ससुर के घर से एक डायरी बरामद हुई है. इस डायरी में अतीक अहमद के काले साम्राज्य का पूरा कच्चा चिट्ठा है. इसमें पांच राज्यों में फैले उसके नेटवर्क की भी पूरी जानकारी है. कुख्यात माफिया डॉन अतीक अहमद के ससुर के घर छापेमारी के दौरान प्रयागराज पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस को यहां से एक डायरी मिली है, जिसमें अतीक के काले साम्राज्य का पूरा कच्चा चिट्ठा दर्ज हैं. इसमें ना केवल अतीक के तमाम करीबियों और सहयोगियों के नाम हैं, बल्कि उसके पांच राज्यों में फैले आपराधिक और कारोबारी नेटवर्क की भी पूरी जानकारी है. बताया जा रहा है अपनी गिरफ्तारी से ठीक पहले अतीक ने यह डायरी अपने ससुराल में लाकर छिपा दी थी.

पुलिस ने डायरी में मिले तथ्यों की पड़ताल के लिए अलग अलग कई टीमों का गठन किया है. मामले की जांच से जुड़े पुलिस अधिकारियों की माने तो डायरी में कौशांबी के ग्राम बिरमपुर में दो भाइयों इमरान और जीशान, मोहम्मद मुस्लिम व कौशांबी के कई अन्य लोगों के साथ एलिना सिटी फेज-1, फेज-2, ग्राम बक्सी व दामपुर में अहमद सिटी, सैदपुर बक्सी में असाद सिटी, रावतपुर में साई बिहार योजना, सैदपुर में सैदपुर ग्राम योजना, सैदपुर करेहदा में सैदपुर आवास योजना, करेली के लखनपुर में लखनपुर आवास योजना में करीब एक हजार बीघा से ऊपर जमीन पर प्रोजेक्ट और इससे जुड़े लेन देन का सारा ब्यौरा दर्ज है.

इस डायरी के अध्ययन से पता चलता है कि माफिया अतीक किस तरह से और कहां कहां अपना आपराधिक और कारोबारी नेटवर्क फैला रखा था. इसमें उसने अपने रियल स्टेट और होटल के कारोबार से जुड़े करीबियों का विवरण दिया है. इमसें लिखा है कि किस कारोबारी के पास कितने बजट का कारोबार है और उसमें उसका कितना हिस्सा है. इसी के साथ डायरी में गुजरात, राजस्थान, मुंबई, एमपी और दिल्ली में मौजूद बेनामी संपत्तियों और शेल कंपनियों का भी जिक्र किया है.

उसने जिन फर्जी कंपनियों के सहारे अपना पूरा साम्राज्य खड़ा किया, उन सभी कंपनियों की जानकारी विस्तार से दी है. इसमें खासतौर पर इन कंपनियों से हुए लेनदेन का पूरा ब्यौरा भी इस डायरी में दर्ज है. इसके अलावा अतीक ने इस डायरी में अपने सभी करीबियों के फोन नंबर और गैंग में उनकी भूमिका का भी विवरण है. इस छापेमारी के दौरान पुलिस ने अतीक अहमद के साले जकी अहमद का आधार कार्ड भी कब्जे में लिया है.

अतीक के धंधे दिल्ली से लेकर मुंबई तक और एमपी, राजस्थान से लेकर गुजरात तक फैले हैं. कई बेनामी संपति है. रियल एस्टेट से लेकर होटल तक के कारोबार हैं. मौके से पुलिस ने अतीक के साले जकी अहमद का आधार कार्ड भी बरामद किया है. इस डायरी में पांच राज्यों में अतीक के फैले हजारों करोड़ के कारोबार की फेहरिस्त शामिल है.

इस बीच पुलिस ने उमेश पाल हत्याकांड के कोड वर्ड का खुलासा कर दिया है. दरअसल, 24 फरवरी 2023 को प्रयागराज में उमेश पाल की हत्या कर दी जाती है. अतीक अहमद के बेटे असद समेत कई शूटर दिनदहाड़े हत्याकांड को अंजाम देते हैं और फरार हो जाते हैं. पुलिस की जांच में इस हत्याकांड को लेकर हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं

Related Articles

Leave a Comment