Home विषयमुद्दा सुशांत सिंह राजपूत : मौत का रहस्य भाग 1

सुशांत सिंह राजपूत : मौत का रहस्य भाग 1

हत्या और जुर्म अध्याय 19.1

by Sharad Kumar
227 views

बॉलीवुड फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत  14 जून 2020 को मुंबई स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे. उनकी मौत पर मुंबई पुलिस ने कहा कि प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का मामला लगता है. उनकी मौत हर किसी के लिए एक सदमा थी. सुशांत का परिवार, मीडिया और उनके प्रशंसक इस तरह के कई सवालों के जवाब ढूंढते रहे.

हालाँकि प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का मामला दिख रहा था लेकिन पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला. उनकी डेड बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए बीएमसी के कूपर्स हॉस्पिटल भेजा गया. जब रिपोर्ट आई तो मुंबई पुलिस के असिस्टेंट कमिश्नर अभिषेक त्रिमुखे ने कहा, ‘पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक, सुशांत की मौत फ़ाँसी की वजह से दम घुटने से हुई है.’

इस बीच, यह मुद्दा सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा: सुशांत ने आत्महत्या क्यों की? या क्या उनकी हत्या की गई? सुशांत के परिवार ने भी उनकी मौत पर सवाल उठाए. मुंबई पुलिस ने सुशांत के विसरा को जाँच के लिए कालिना फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी भेजा. फॉरेंसिक लैब ने मुंबई पुलिस को 27 जुलाई 2020 को अपनी रिपोर्ट भेजी, जिसमें कहा गया कि ‘यह हत्या नहीं है और सुशांत के विसरा के नमूनों में न तो कोई दवा और न ही हानिकारक रसायन पाए गए.’ फॉरेंसिक अधिकारियों ने बताया कि ‘सुशांत ने जिस कपड़े से फ़ाँसी लगाई, वो 200 किलो तक वजन सह सकते थे.’

हालाँकि मुंबई पुलिस ने इस केस की जाँच जारी रखी. फिर यह पता चला कि सुशांत अवसाद (डिप्रेशन) से पीड़ित थे. कुछ लोगों ने इस पर चर्चा शुरू की कि क्या सुशांत की मौत का कारण फ़िल्म इंडस्ट्री में विवादित भाई-भतीजावाद है. इसमें यह आरोप लगाया जाता है कि बॉलीवुड में बड़े निर्माता-निर्देशक अपने रिश्तेदारों को ही अवसर देते हैं और कहा गया कि इसकी वजह से सुशांत के हाथ से कई बड़े मौके चले गए और वो इसकी वजह से अवसाद में थे जिसकी वजह से अंततः उनकी जान चली गई. मुंबई पुलिस ने इस बाबत भी जाँच की और निर्देशक महेश भट्ट, संजय लीला भंसाली, करण जौहर और आदित्य चोपड़ा समेत 40 लोगों के बयान दर्ज किए.

सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया के ख़िलाफ़ एफ़आईआर

जाँच शुरू होने के 40 दिनों बाद, 29 जुलाई को सुशांत के परिवार के सदस्यों ने बिहार में एक शिकायत दर्ज कराई. इसमें उन्होंने सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर उन्हें आत्महत्या करने के लिए उकसाने का आरोप लगाया. पटना सिटी के पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी ने कहा, “एक शिकायत दर्ज कर ली गई है और हम मामले की जाँच कर रहे हैं.” परिवार के वकील विकास सिंह ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा, “सुशांत की मौत के बाद परिवार सदमे में था. मुंबई पुलिस एफ़आइआर दर्ज करने से बच रही थी, इसलिए अब एफआइआर दर्ज की गई है.”बिहार पुलिस ने मुंबई में अपनी जाँच शुरू की.

महाराष्ट्र में कुछ नेताओं ने इस मामले में बिहार पुलिस की जाँच के अधिकार पर सवाल उठाया. एसपी विनय तिवारी मुंबई आए, लेकिन महानगर पालिका के अधिकारियों ने उन्हें क्वारंटीन में रख दिया. इसकी वजह से महाराष्ट्र और बिहार के नेताओं के बीच तकरार हुई. दोनों राज्यों के पुलिस अधिकारियों और नेताओं के बीच इस विषय पर वाद विवाद चलता रहा. बीजेपी ने इस मुद्दे को बिहार विधानसभा चुनाव में भी उठाया. इसके चलते भी काफी बहस हुई.

सीबीआई जाँच की माँग

कुछ ने इस मामले की जाँच में मुंबई पुलिस की ईमानदारी पर सवाल उठाया. मुंबई पुलिस एफआईआर क्यों नहीं दर्ज कर रही है? क्या वो मामले को दबाने की कोशिश कर रही है? ऐसे सवाल पूछे गए.

सोशल मीडिया पर लोगों ने और बिहार के राजनेताओं ने इस मामले में सीबीआई जाँच की माँग की. बिहार सरकार ने सुशांत की मौत की जाँच सीबीआई को सौंपने का फ़ैसला लिया. केंद्र सरकार ने भी जाँच सीबीआई को हस्तांतरित करने का फ़ैसला लिया. लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने जोर देकर कहा कि इस मामले में सीबीआई जाँच की ज़रूरत नहीं है.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार राज्य के संघीय अधिकारों को नष्ट कर रही है. इस बीच, बीजेपी सांसद नारायण राणे ने युवा सेना के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे की ओर संकेत करते हुए सुशांत और उनकी पूर्व प्रबंधक दिशा सालियान की मौत को लेकर कुछ और आरोप लगाए. हालाँकि आदित्य ठाकरे ने इन सभी आरोपों का खंडन करते हुए स्पष्ट किया कि इस मामले से उनका कोई लेना-देना नहीं है.

आगे जारी रहेगा….

“यह सभी अपराध वास्तव में घटित हो चुके है और इनका विवरण विकिपीडिया और अन्य श्रोतो से लिया गया है इन अपराध को करने वाले अपराधियों को सजा दी जा चुकी है और कुछ मामलो में अभी फैसला आना बाकी है और मामला न्यायालय में है आप सब से निवेदन है की इनकी कहानियो को पढ़ कर इनकी प्रेरणा न ले”

Related Articles

Leave a Comment