Home रंजना सिंह G20 में शी जिनपिंग क्यों नहीं आए

G20 में शी जिनपिंग क्यों नहीं आए

by रंजना सिंह
197 views

G20 में शी जिनपिंग क्यों नहीं आए, उसका राज मोदी सरकार द्वारा शी जिनपिंग को अब तक दिए गए सबसे गहरी चोट में है।
भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ता ऑटो बाजार है। जापान को पीछे छोड़कर भारत सबसे ज्यादा कार की खरीद बिक्री में तीसरे नंबर पर पहुँच गया है और एक्सपर्ट के अनुसार 2026 तक भारत विश्व में दूसरे स्थान पर आ जाएगा।
इस समय इलेक्ट्रिक कारों की बहुत माँग है और टेस्ला के बाद दूसरे नंबर की बड़ी इलेक्ट्रिक कार कंपनी BYD चीन की है।टेस्ला और BYD में ग्रोथ को लेकर कोई बहुत ज्यादा फर्क नहीं है और जिस तरह से जर्मनी के ऑटो बाजार में BYD को रिस्पांस मिला है उसे देखते हुए पूरी दुनिया कह रही है कि आने वाले समय में बीआईडी शायद टेस्ला को पीछे छोड़ दे।यूरोपीय यूनियन के लिए चीन की कंपनी BYD ने फॉक्सवैगन ग्रुप के साथ डील किया है।
भारत में BYD बहुत जोर जोर से उतरने की तैयारी में थी। बीआईडी कंपनी का भारतीय वेबसाइट लॉन्च हो गया था। बहुत जगह पर इन्होंने डीलर फाइनल कर लिए थे। तेलंगाना में कई हजार एकड़ जमीन ले ली गयी थी और भारत की जानी मानी इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी मेघा इंजीनियरिंग लिमिटेड के साथ इनकी पार्टनरशिप भी हो गई थी। सब कुछ फाइनल हो गया था और यह भी तय माना जा रहा था कि जिनपिंग और नरेंद्र मोदी इस बड़े डील को जो लगभग एक बिलियन डॉलर का होगा उसे एक समारोह में फाइनल कर देंगे।
लेकिन अचानक मोदी सरकार ने मेघा इंजीनियरिंग और BYD कंपनी की पार्टनरशिप को रद्द कर दिया और BYD की भारत में एंट्री बैन कर दी वहीं टेस्ला की एंट्री के रास्ते साफ़ कर दिए। टेस्ला के लोग गुजरात तमिलनाडु और बेंगलुरु में जमीन तलाश कर रहे हैं कि उनके लिए कौन सी जगह ज्यादा अच्छी रहेगी।
यह चोट शीजिंगपिंग बर्दाश्त नहीं कर पाए क्योंकि भारत अब चीन के पेट पर एक के बाद एक लगातार लात मार रहा है।
मैंने एक ऑटो मैगजीन में नेट पर पढ़ा कि आप दूसरे तमाम देशों में अपनी कार बेच सकते हैं लेकिन यदि आपको क्वांटिटी में काम करना है तो आपको भारत में आना ही पड़ेगा और उसमें उदाहरण हुंडई का था। हुंडई जितनी कार पूरी दुनिया के देशों में बेचती है उसका 80% कार भारत में बेचती है, ठीक यही सुजुकी के साथ है। सुजुकी या टोयोटा पूरी दुनिया में जितना कार बेचते हैं उसका 70% अकेले भारत में बेचते हैं। तो भारत एक ऐसा देश है जहाँ आपको बल्क में काम मिलेगा जहाँ आपका वॉल्यूम बढ़ेगा, लेकिन यदि आप भारत में काम नहीं कर रहे हैं तो फिर आप दुनिया के प्रतिस्पर्धी बाजार में टिक नहीं सकेंगे।
मोदीजी ने जो भिगोकर जूता शी जिनपिग के मारा है शायद उसका दर्द बहुत गहरा है, इसलिए खुद न आकर वह समिट में अपना प्रतिनिधि भेज रहे हैं।

Related Articles

Leave a Comment