Home नया तेजस हुई बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप सबने कंगना को दोषी ठहराया

तेजस हुई बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप सबने कंगना को दोषी ठहराया

by ओम लवानिया
144 views
सिनेमाई परिप्रेक्ष्य में हालातों को आंकने की कोशिश रहती है कोई एज आड़े नहीं लाता हूँ।
कंगना डीडी की संजय राउत के साथ तू तू मैं मैं हुई थी और संजय बहुत ओच्छी भाषा पर निकल पड़े थे और तत्कालीन महाराष्ट्र सरकार ने बीएमसी के हवाले कंगना का ऑफिस तुड़वाया था तब खुलकर पक्ष में लिखा था। तब मामला अभिव्यक्ति की स्वतंत्रा से जुड़ा था, जब दूसरों को हक़ है तो कंगना को भी है। लेकिन…लेकिन महज़ इसी बिनाह पर उनके हर कृत्य पर समर्थन दें तो क़तई संभव नहीं है। ऐसा मेरा मानना नहीं है।
तेजस के औंधे मुँह बॉक्स ऑफिस प्रदर्शन पर कंगना ने दर्शकों को दोषी ठहरा दिया है कि दर्शक उन्हें अन्य स्टार्स की तरह मौक़ा नहीं दे रहे है।
हद है, दमदार कंटेंट को किसी की ज़रूरत नहीं पड़ती है। सिस्टम वाले भी अपने कंटेंट बॉक्स ऑफिस से हिट स्टेटस में छुड़वा नहीं पाये है। इसलिए बढ़िया कंटेंट दर्शकों को स्वयं दौड़ा देता है।
डीडी ने लॉक डाउन में बॉयकॉट विंग के समर्थन में बॉयकॉट बॉलीवुड का सपोर्ट किया था आज तेजस भी उसी परिवेश की फ़िल्म है तो आप बॉयकॉट में शामिल है। माना कि आप देशभक्ति कंटेंट लेकर आई है, परंतु सिर्फ़ राष्ट्रवाद से फ़िल्में हिट नहीं होती है।
अब दोगलेपन की परिभाषा देते है।
डीडी लॉक डाउन में जिस गैंग या कहे गुट का बॉयकॉट करवा रही थी बीते दिनों उन्हीं से ग़लबहियाँ कर रही थी और उनकी फिल्मों को तारीफ़ें दे रही थी। असल लॉकअप शो में भी डबल स्टैण्डर्ड दिखलाया। बहुतेरे माननीय मित्र है वे कुढ़ जाते है की कंगना हमारे साइड की है आप ऐसे कैसे लिखें है। तो भैया मौक़ा परस्त है फिर भी मुद्दों पर सहमति हो सकती है। हर बात पर कभी नहीं, दूसरी बात डीडी का करियर जितना ग्रोथ लेना था ले चुका है। अब पैक अप है या फिर अपने होम प्रोडक्शन में आओ और नुक़सान करवाओ। अभिनेत्री उम्दा है और इमर्जेंसी में शानदार है, स्क्रिप्ट व स्क्रीन प्ले सटीक बैठा तो कामयाबी हाथ आएगी। भावनाओं के कंधों पर कुछ हासिल नहीं होना है।
अभी तेजस के हालात है कि एक भी टिकट नहीं बिकने पर शो कैंसिल हो गये है। राष्ट्रवादी मित्रों जिन्हें हमदर्दी है तो अपने नज़दीक सिनेमाघरों में रिपीट वैल्यू में दौड़ लगायें और डीडी को हिट करवा दें।
तेजस, धाकड़ सरीखा अंजाम भुगत रही है।
वाक़ई आपने बॉयकॉट बॉलीवुड करना था तो अपनी फ़िल्मों को बॉलीवुड से अलग करती। ख़ैर।

Related Articles

Leave a Comment