Home लेखक और लेखअजीत सिंह 2017 के UP विधानसभा चुनाव

2017 के UP विधानसभा चुनाव

by Ajit Singh
768 views
ये है हमारे सुपारी मीडिया का असली चेहरा ।
इसके विपरीत मुझे Vikram Singh Kaneri जी की वो एक लाइन की पोस्ट भी याद है , जिसमे उन्होंने लिखा था कि इस बार अगर 325 से एक भी seat कम आये तो भाजपा के संगठन और कार्यकर्ता को डूब मरना चाहिये ।
जनता झोली भर vote देने को तैयार बैठी थी ।
इस बार भी कमोबेश वही हालात हैं ।
तब योगी जी का चेहरा नही था ।
इस बार तो योगी मोदी दोनों हैं ।
तब UP में सिर्फ एक वादा था …… सुशासन का वादा ।
जनता को ये भरोसा था कि अगर भाजपा आई तो सुशासन होगा ……. हमने तो गांव में अपने घर वादा किया था कि अगर भाजपा जीती तो उसी दिन , मने Result वाले दिन ही घर मे AC लगवा लेंगे ।
इतना विश्वास था भाजपा की आने वाली सरकार पे ।
इससे पहले की सरकारों में हमने वो समय देखा था जिसमे Fan ही एक बहुत बड़ी Luxury थी , बिजली औसतन 6 घंटे आती थी , वो भी 140 वोल्ट …… मेरी माँ सारा दिन इसी चिंता में मरी जातीं कि Inverter बोल न जाये …… वरना रात में अंधेरे में बैठना पड़ेगा ।
तो ऐसे प्रदेश में जहां Fan एक Luxury हो , AC की बात करना आत्मविश्वास की पराकाष्ठा थी ।
मुझे याद है , result वाले दिन 11 बजते बजते तस्वीर साफ हो गयी थी कि भाजपा प्रचंड बहुमत से आ गयी है ।
दोपहर 12 बजे मेरे बेटे ने गाड़ी निकाली , शो रूम से नया AC ला के install करा दिया ।
हमें भरोसा था कि भाजपा शासन में 18 घंटे बिजली मिलेगी ।
भाजपा ने बिजली , सड़क और सुरक्षा का अपना वादा निभाया है ।
आज एक तरफ जहां भाजपा का काम बोल रहा दूसरी तरफ योगी जी हैं जो Bulldozer पे बैठ के दहाड़ रहे हैं …..
आज भाजपा की चुनावी गाड़ी डबल इंजन पे सरपट दौड़ रही है ।
हालांकि अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी …… टिकट वितरण हो जाये , चुनाव ज़रा गरमाने दीजिये ।
पर अभी जो Momentum दिख रहा है और कानपुर कन्नौज छापामारी के बाद सपा Cadre और लीडरशिप में जो हताशा दिख रही , उसमें भाजपा 42 – 44 % या उससे भी ज़्यादा vote ले के 325 से बढ़ के 340 सीट भी ले आये और सपा 50 के नीचे सिमट जाए तो मुझे आश्चर्य नही होगा ।
बाकी सुपारी मीडिया को तो कांटे की टक्कर दिखाना ही है ।

Related Articles

Leave a Comment