Home विषयअर्थव्यवस्था अमेरिका ने 20 हजार डालर किया एजुकेशनल लोन माफ़

अमेरिका ने 20 हजार डालर किया एजुकेशनल लोन माफ़

Nitin Tripathi

by Nitin Tripathi
25 views
अभी हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति बाइड़न ने अमेरिकन नागरिकों द्वारा उच्च शिक्षा हेतु लिए गए बीस हज़ार डालर तक के लोन की माफ़ी की घोषणा की.
अमेरिका में एजुकेशन लोन एक बड़ा मुद्दा रहा है और होम लोन / पर्सनल लोन के पश्चात एक औसत अमेरिकन पर सबसे बड़ा लोन एजुकेशन लोन ही होता है. अक्सर लोग यह सवाल करते हैं कि क्या फ़ायदा इतना पढ़ने लिखने का कि दस वर्ष लोन चुकता करते ही बीतता है.
मेरा उत्तर यही होता है कि दस वर्ष पश्चात आप एक वर्ष में इतना कमा रहे होते हैं कि बग़ैर शिक्षा के दूसरे देशों में आप उतना ज़िंदगी में नहीं कमा पाते हैं. यह होता है शिक्षा का अंतर. और साथ ही इसी शिक्षा की वजह से अमेरिका ने दुनिया को लाखों अविष्कार दिए. आज की तारीख़ में दुनिया के आधे से ज़्यादा शृजन केवल अमेरिका में होते हैं. आधे से ज़्यादा बड़ी कम्पनियाँ अमेरिका में ही हैं. वह देश जो साइज़ में भारत देश से कई गुना बड़ा है और मौसम इतना दुरूह है कि प्रकृति के साथ ज़िंदा नहीं रहा जा सकता, उसके गाँव गाँव तक में इतना शानदार इंफ़्रा स्ट्रक्चर बनाना यह सब शिक्षा से ही सम्भव हुआ.
हर देश की एक प्रमुख चीज़ होती है. किसी देश में कृषि को प्रधान मानते हैं तो वहाँ कृषि पर सब्सिडी है, लोन माफ़ी है. किसी देश में मेडिकल सुविधाओं पर सब्सिडी है. कहीं बिजली फ़्री तो कही पानी. अमेरिका में ये सब फ़ुल पैसा खर्च कर मिलता है. अमेरिका देश का सिद्धांत है शिक्षा, इनवेशन. बारहवीं तक शिक्षा मुफ़्त है और यह मुफ़्त वाले स्कूल ऐसे होते हैं जैसे अन्य देशों के सबसे महँगे प्राइवट स्कूल. फ़िर उच्च शिक्षा हेतु यूनवर्सटीज़ हैं ऐसी ऐसी जिनमे कई का साल का खर्च छोटे मोटे देशों की GDP से ज़्यादा होता है. इसी का परिणाम है कि यूनवर्सटीज़ में नोबल प्राइज़ से लेकर ओलम्पिक अवार्डस तक आते रहते हैं और इतने आते हैं कि इधर कोई केयर नहीं करता. एक एक यूनिवर्सिटी में इतने नोबल प्राइज़ जीतने वाले अध्यापक हैं जितने बड़े बड़े देशों ने पूरी ज़िंदगी में न जीते.
अमेरिका का सिद्धांत है बच्चे पढ़ जाएँ फ़िर वह हेल्थ सर्विसेज़ के पैसे दे लेंगे, खाने की चीजों की पूरी क़ीमत दे लेंगे, अपना बिजली पानी का बिल दे लेंगे. फ़िर कोई सब्सिडी न चाहिए जीवन भर.
अमेरिका की प्रगति के पीछे केवल एक और एक फ़ैक्टर है, अमेरिकन नीति निर्माताओं द्वारा शिक्षा पर किया गया फ़ोकस.
एजुकेशन आधुनिक विश्व का सर्वोत्तम निवेश है. इस पर जितना खर्च किया जाए वह कम हैं

Related Articles

Leave a Comment