Home राजनीति UP के उपचुनावों में सपा अपने दोनों गढ़ – रामपुर और आज़मगढ़ , दोनों हार गई

UP के उपचुनावों में सपा अपने दोनों गढ़ – रामपुर और आज़मगढ़ , दोनों हार गई

Ajit Singh

by Ajit Singh
260 views
इस बार तो मैं आज़मगढ़ नही जा पाया पर 2019 के लोकसभा चुनाव में मैं पूरे एक महीने आज़मगढ़ रहा था ।
हम सारा दिन दिनेश यादव उर्फ निरहुआ के साथ ही चलते थे और उनकी चुनावी सभाओं के दौरान उस इलाके में घूम के माहौल का जायज़ा लेते थे ।
जनता जनार्दन भोटर से बात करने पे लगता था कि निरहुआ के पक्ष में जबरदस्त लहर है ।
पर असली खेल अंतिम दो दिनों में हुआ ।
सपा ने 2019 का असली चुनाव दरअसल सिर्फ आज़मगढ़ में ही लड़ा था । बाकी सब जगह तो सिर्फ खानापूर्ति हुई थी ।
हमने देखा कि अंतिम दो दिन में अखिलेश यादव के तमाम चिंटू जादो , संटू जादो , भन्टू जादो चेला चप्पड़ , जिनको अखिलेश ने अपने शासन काल मे ठेकेदारी और दलाली में खूब पैसा कमवाया था , ऊ सब अपनी अपनी Fortuner में सूटकेस ले के आये थे और अंतिम दो दिन में बेशुमार पैसा बांटा गया ।
आज़मगढ़ 2019 में अखिलेश की न सिर्फ इज़्ज़त बल्कि अस्तित्व की लड़ाई थी ।
दूसरी बात ये कि सपा बसपा का महाठगबन्धन भी था । सो Money Power और गठबंधन के कारण 2019 में तो आज़मगढ़ में अखिलेश की इज़्ज़त बच गयी पर निरहुआ ने संकेत दे दिये थे ।
फिर जब 2022 में UP में विधानसभा चुनाव हुए तो आज़मगढ़ में एकमुश्त Muslim vote , यादव Vote और बड़ी संख्या में पियरका चचा के राजभर vote सपा को मिले और सपा ने आज़मगढ़ की सभी 10 seats जीत लीं ।
2022 के UP विधानसभा चुनाव जैसा एकमुश्त Muslim Polarization मैंने पहली बार देखा था ।
पर चुनाव बाद जिस प्रकार जेल में बंद आजमखान ने अखिलेश के प्रति नाराज़गी प्रकट की और जोगी बाबा की Bulldozer नीति पे अखिलेश की चुप्पी से हताश निराश नाराज़ मुस्लिम समाज में जो हताशा थी , उसकी अभिव्यक्ति इस उपचुनाव में इन्होंने उदासीन रह कर और सपा को Vote न दे कर , और आज़मगढ़ में बसपा प्रत्याशी गुड्डू जमाली को Vote दे के व्यक्त की है ।
उपचुनाव में सपा को हरवा के Muslim समाज ने अखिलेश यादव को ये message दिया है कि वो सपा के बंधुआ भोटर नहीं हैं । उनको Taken For Granted न लिया जाये ।
इस उपचुनाव में अखिलेश यादव को ये समझ लेना चाहिये कि उनकी पूरी राजनैतिक जमीन ठोस धरातल नही बल्कि रेत पे टिकी है जो कभी भी दरक सकती है ।
Muslim vote आजतक किसी का सगा न हुआ है न होगा ।
M vote के भरोसे आप लंबी पारी नही खेल सकते ।
नई जमीन तलाशिये ।

Related Articles

Leave a Comment