Home लेखक और लेखरंजय त्रिपाठी आज सुबह सुबह सेहत सँवारने का दौड़ भाग कर रहे थे …

आज सुबह सुबह सेहत सँवारने का दौड़ भाग कर रहे थे …

783 views
आज सुबह सुबह सेहत सँवारने का दौड़ भाग कर रहे थे .. तभी नीलगिरि चौराहा, लखनऊ, अयोध्या रोड के पास एक जाना पहचाना चेहरा दिखाई दिया … हम जल्दी जल्दी पास गए तो देखा ….
.
हमारे कम्युनिस्ट मित्र त्रिपुण्ड लगाए, रामनामी गमछा का पगड़ी लगाए, बम बम भोले वाली टी शर्ट पहने हाथ में करताल लिए हरे रमा, हरे कृष्णा गाते दो तीन बटूक कम्युनिस्ट के साथ नाचते हुए पूरब के ओर चले जा रहे थे ….
.
हम चिल्लाए …. अरे पांड़े, अरे ए पंड़वा रुक यार … पांड़े ने बोला .. हरी ॐ, हरी ॐ …. हमने पुछा ये क्या भेसा बनाए हो और क्या नौटंकी चल रहा है … पांड़े उछल के चिल्लाए, अरे धर्म द्रोही .. अरे राम द्रोही ये पूज्य कपड़ा और ये भक्ति क्या नाटक लग रहा है तुमको .. लगा चिल्ला चिल्ला के नारे लगाने … “जय श्री राम, हंसुआ निसान …” … “जय श्री राम, हथौड़ा निसान …” … हर हर महादेव …. राधे राधे ..
.
हमारा माथा चकरा गया .. कामरेड पांड़े का कॉलर पकड़ के खींचे और कहे अधिक नाटक न पेलो बे नहीं तो अब्बे भरे चौराहे तुम्हारा रेल बना देंगे … कामरेड जल्दी से नजदीक आकर कान में फुसफुसाते हुए बोला …. आजकल यही चल रहा है .. संजय सिंहवा जइसन दुर दुरहा और सिसोदिया जइसा भिनखावन मनई जब अजुधिया हो आए … तो मानो न मानो रंजय गुरु आजकल का पूरा मौसम यही चल रहा है … टाइम खोटी न करो, चलो हटो मुझे जाने दो राम की नगरी … हमने तो टोटी चुराने के बराबर का पाप भी नहीं किया है ..
.
हमने कामरेड पांड़े को जोर से झगझोड़ते हुए कहा …. बहुते दुष्ट हो बे मार्क्स की लेंड़ी .. कौन पूछता है रे तुम लोगों को … सारे संसार में भारत के कोढ़ी गैंग के नाम से मशहूर हो तुम सब … रूसी तुमको useful idiots बोलते हैं … चीनी तुमको दुआरे का कूकुर … मलेच्छ देश वाले तुम सबको टके टके पर बिकने वाला बखोर … पूरे दुनिया में तुम लोग घिनौने लोग के रूप में प्रसिद्ध हो …. डैश डैश डैश .. डैश ..
.
अब कामरेड के अंदर का क्रान्तिकारी जाग उठा और कहा तुम संघी कहीं के … जब बोलोगे तब बिक्ख ही बोलोगे … न जाने कहाँ सुबह सुबह भेंटा गए तुम …. और वो दोनों बटूक कम्युनिस्ट का हाथ खेंचते हुए … अफीम अफीम कहते लगा भागने …. .. गेरुआ “तहमद” ये बाहर लाल लंगोट का फुनगी लपर लपर हिल रहा था। ..

Related Articles

Leave a Comment