Home नया हत्याओं_के_पीछे_राजनीतिक_एवं_इंटरनेशनल_षडयंत्र

हत्याओं_के_पीछे_राजनीतिक_एवं_इंटरनेशनल_षडयंत्र

145 views

रात को स्टार गोल्ड 2 पर 3 या 4 घंटे में पूरी रामानंद सागर जी की रामायण दिखाई जा रही थी,पहले मेघनाद मरता है,फिर कुंभकरण और रावण..
रावण की ज़िद्द के कारण मेघनाद मरा
फिर कुंभकरण रावण को समझाने का प्रयास करता है
फिर कुंभकरण वध और फिर रावण को अंत विभीषण के कारण हो जाता है।

फिर मैंने DOpolitics के Sanjay Rajput भईया को कॉल किया,पूछा प्रयागराज जा रहे हैं क्या आप न्यूज़ रिपोर्ट करने?वो बोले अभी कुछ बोला नहीं गया है ऊपर से,ऊपर से तबियत भी खराब है..
मैंने कहा ठीक है भईया,जाना हो प्रयागराज तो मैं भी चलूंगा बहुत कुछ हो रहा हूं,अभी न्यूज बाइट्स मिल जाएगी।उन्होंने भी कहा अब उसका डर खत्म हो गया है,लोग बोलने लगे हैं।
फिर मैं 200 किलोमीटर की यात्रा करके आया था,
शरीर थका था तो सो गया..फोन स्विच ऑफ करके
साढ़े 9 बजे ही सो गया
सुबह उठा तो

जो हुआ वो होना था,क्यों हुआ और कैसे हुआ ये कहना मुश्किल है,एक मित्र से अतीक के पाकिस्तान कनेक्शन की बात हो रही थी यात्रा के दौरान,ये बात हो रही थी कि पंजाब लाया जाएगा,प्रियंका,राहुल,ओवैसी और अखिलेश का परेशान होना संकेत कर रहा था कि अतीक उनके बारे में कुछ उगल सकता है,साथ ही साथ पंजाब में मौजूद राजनेताओं और वहां के माफिया और साथ ही साथ आईएसआई एजेंट्स भी अलर्ट पर थे..
ये हत्याएं जिन्होंने कराईं उनको ये ऑर्डर था कि माहौल को योगी आदित्यनाथ जी की सरकार के विरुद्ध करना है,साथ ही साथ इंटरनेशनल लेवल पर हिंदुत्व की छवि को खराब करना है,जो हो रहा था वो सब एक लीगल तरीके से हो रहा था,फिर सरकार ये तो बिलकुल न करवाती,जो होता वो विधि के अनुसार होता..
पर हत्याएं करने वालों के नारे लगा कर सरेंडर करने वाली बात,एक तरह से हिंदुत्व विरोधी मीडिया का एक धड़ा जो भारत में है,जिसमें अरफा खन्नुम,रवीश कुमार,
बरखा दत्त,विनोद कपरी,अजीत अंजुम के साथ साथ विदेशी मीडिया खासकर बीबीसी इसे हिंदू आतंकवाद का नाम देने का प्रयास करेगी,और मुझे लगता है अभी तक ये वो करना आरंभ कर चुके होंगे।
ये उतना सीधा नहीं,जितना कई लोग सोच रहे हैं
वो दोनों वैसे ही खत्म हो चुके थे,पर उनके ज़िंदा रहने से कई बड़ों को खतरा था,और उनकी हत्या से एक हिंदुत्व समर्थक नेता की छवि को नैशनल और इंटरनेशनल लेवल पर धूमिल करने का मौका अब सब को मिलेगा।
आप अगर सेलिब्रेट कर रहे हैं,तो इस सब का स्क्रीनशॉट पाकिस्तान,अमेरिका,ब्रिटेन और बाकी देशों तक पहुंचेगा और हमेशा रहेगा..
ध्यान रहे योगी आदित्यनाथ जी को भारत का अगला प्रधानमंत्री बनाए जाना तय है,एंग्लो सैक्सन एंपायर और डीप स्टेट नहीं चाहते ऐसा हो,भारत में गृह युद्ध करवाने का पूरा प्रयास वो हर तरफ से कर रहे हैं,और ये हत्या और उसके बाद लगाए नारे उसमें सहायता ही पहुंचाएंगे,इसलिए बहुत सोच समझकर ही बोलिए जो बोल रहे हैं,क्योंकि ऐसा न हो,कि आप मुख्य षड्यंत्रकारियों का ही प्यादा बन जाएं और वही कर रहें हों,जो वो चाहते थे।
बाकी कर्मों का फल देखिए,
दोनों भाई के हाथ बंधे रहे अंत तक,दोनों ने एक साथ जिस शहर में दहशत फैलाई थी,आज उसी शहर में उनकी दहशत समाप्त हुई..पर इनका अंत जैसे हुआ वो एक षड्यंत्र ही है जिसमें बड़े विपक्षी राजनेता और पाकिस्तान एजेंट्स इन्वॉल्व हैं,आगे जो होगा वो एक अध्ययन का विषय बनेगा,तब तक सतर्क रहें,किसी की फैलाई किसी अफवाह पर भरोसा न करें,जब तक पुलिस और सरकार का
आधिकारिक बयान न आ जाए।
सुप्रीम कोर्ट भी अब योगी आदित्यनाथ जी पर हमलावर हो सकती है,कपिल सिब्बल और सिंघवी को कहा गया है प्रियंका वाड्रा द्वारा,ताकि यूपी के ज़रिए वो अगली प्रधानमंत्री बन पाएं(वो होना उतना आसान नहीं),नहीं भी बन पाएं तो यूपी या किसी अन्य राज्य में कांग्रेस विजय प्राप्त करे अमन पसंद लोगों की एकता के चलते, जो इन हत्याओं के पश्चात उस तरफ से होनी लाज़मी है,वो अपने आतंकवादियों और माफिया को हीरो मानते रहे हैं,चाहें अफ़ज़ल बुरहान हो,
चाहे असद,अतीक,अशरफ,वो उनके लिए नायक रहेंगे
और उन्हें नायक साबित करने में,
सबसे आगे ओवैसी होंगे।
सच क्या झूठ क्या समय सब स्पष्ट करेगा..
इसलिए समय की प्रतीक्षा करें..
ये युग संधि काल है,आसुरी शक्तियां नहीं चाहती कि सनातन शक्तियां जो जन जन में पुनः जागृत हो रही हैं वो पूर्ण रूप से जागृत हों और आसुरी शक्तियों का समूल नाश करे,इसलिए वो अंतिम प्रयास करेंगे,और इस समय हमारी समझदारी इसी में है कि हम उनके षड्यंत्रों का हिस्सा न बन सनातन शक्तियों को जागृत करते रहने का प्रयास करते रहें,क्योंकि असली विजय तभी होगी।
जय जय श्री राम

Related Articles

Leave a Comment