Home नया 41 किलोमीटर का टुकड़ा जिस पर चल रही इजरायल-हमास में खूनी जंग

41 किलोमीटर का टुकड़ा जिस पर चल रही इजरायल-हमास में खूनी जंग

by Sharad Kumar
130 views

इजरायल और फलस्‍तीनी आतंकी गुट हमास के बीच गाजा पट्टी में भीषण युद्ध शुरू हो गया है। हमास ने इजरायली इलाके पर अब तक सबसे बड़ा हमला करके 700 से ज्‍यादा इजरायली लोगों को मार दिया। हमास और इजरायल के बीच यह लड़ाई अभी जारी है। इजरायल अब गाजा पर जमीनी हमला करने की तैयारी कर रहा है ताकि हमास को सत्‍ता से उखाड़ फेंका जाए। हमास ने कई इजरायली लोगों को बंधक बना लिया और महिलाओं के साथ अमानवीय व्‍यवहार किया है। इससे इजरायल बहुत गुस्‍से में है और 1 लाख सैनिकों को गाजा पट्टी की सीमा के पास जमा कर लिया है। इजरायल के प्रधानमंत्री ने ऐलान किया है कि यह बहुत लंबा युद्ध होने जा रहा है। उधर, ईरान और कतर ने इजरायल को चेतावनी दी है। इस तनाव के बीच पश्चिम एशिया में जंग छिड़ने जैसे हालात बनते नजर आ रहे हैं। आइए जानते हैं क्‍या है गाजा पट्टी जिसके मात्र 41 किमी के इलाके लिए इजरायल और हमास के बीच दशकों से जंग चल रही है

गाजा पट्टी पर हमास ने साल 2007 में शासन शुरू किया था। इसके बाद हमास और इजायल के बीच कई बार भीषण लड़ाई हो चुकी है। हमास को ईरान और कतर समेत कई मुस्लिम देशों का साथ मिला हुआ है। हमास ने अब तक हजारों की तादाद में रॉकेट इजरायल पर दाग चुका है। इसके जवाब में इजरायल अब तक कई बार गाजा में विध्‍वंस मचा चुका है। इजरायल ने साल 2007 से ही गाजा पट्टी की चौतरफा नाकेबंदी कर रखी है। गाजा पट्टी भूमध्य सागर से सटकर इजरायल और मिस्र के बीच स्थित भूमि की एक संकीर्ण पट्टी है। गाजा पट्टी पर पहले ऑटोमन साम्राज्य और फिर ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा कब्जा कर लिया गया। यह दो फिलिस्तीनी क्षेत्रों में से छोटा है। दूसरा इलाका पश्चिमी किनारा है।

गाजा पट्टी का इतिहास

सल 1948 में इज़रायल के निर्माण के बाद, मिस्र ने लगभग दो दशकों तक गाजा पट्टी पर नियंत्रण किया। 1967 के 6 दिवसीय युद्ध में अपने अरब पड़ोसियों के खिलाफ इज़रायल की जीत के बाद उसने गाजा पट्टी और पश्चिमी किनारे पर नियंत्रण हासिल कर लिया। अगले 38 वर्षों के लिए इजरायल ने गाजा पट्टी को नियंत्रित किया और 21 यहूदी बस्तियों का निर्माण किया। साल 2005 में, अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दबाव में, इज़रायल ने गाजा से लगभग 9,000 इज़राइली बसने वालों और अपने सैन्य बलों को वहां से वापस बुला लिया। इससे गाजा पट्टी को फलस्‍तीनी प्राधिकरण द्वारा शासित किया जाना था, जो पश्चिम बैंक के कुछ हिस्सों को भी नियंत्रित करती है।

आज गाजा पट्टी में क्‍या है हाल

आज, गाजा पट्टी लगभग 41 किमी के भीतर रहने वाले 20 लाख से अधिक फलस्‍तीनी लोगों के साथ, यह ‘दुनिया के सबसे घनी आबादी वाले क्षेत्रों में से एक है।’ गाजा में रहने वाले आधे फलस्‍तीनी 19 वर्ष से कम उम्र के हैं, लेकिन उनके पास सामाजिक-आर्थिक विकास की कम या कोई संभावना नहीं है। यही नहीं उनकी बाहरी दुनिया तक सीमित पहुंच है। साल 1992 में इजरायल के प्रधानमंत्री यित्ज़ाक राबिन ने कहा था, ‘मैं चाहता हूं कि गाजा समुद्र में डूब जाए, लेकिन ऐसा नहीं होगा, और एक समाधान ढूंढना ही होगा।’ इतने साल भी इसका समाधान नहीं हो सका है।

हमास और गाजा पट्टी क्‍या है संबंध

फलस्‍तीनी गुट हमास का नेतृत्व वर्तमान समय में इस्माइल हनिया कर रहे हैं। हमास ने साल 2007 में गाजा में चुनाव जीतने के बाद वहां नियंत्रण कर लिया। उसके बाद से कोई चुनाव नहीं हुआ है। संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकार समूहों की अपील के बावजूद, इज़रायल ने 2007 से गाजा पर जमीन, हवा और समुद्री नाकाबंदी बनाए रखी है जिसका फलस्‍तीनी व‍िरोध कर रहे हैं। इजरायल का कहना है कि नाकाबंदी, जो उसे गाजा की सीमाओं पर नियंत्रण देती है और मिस्र द्वारा भी लागू की जाती है। उसका कहना है कि इजरायली नागरिकों को हमास से बचाने के लिए यह नाकेबंदी आवश्यक है। वहीं अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस समिति नाकेबंदी को गैरकानूनी मानती है।

 

हमास क्या है और किसका प्रतिनिधित्व करता है?

हमास फलस्‍तीनी क्षेत्रों में दो प्रमुख राजनीतिक दलों में से एक है। साल 1987 में गाजा और वेस्ट बैंक पर इजरायल के कब्जे के खिलाफ विद्रोह के दौरान स्थापित, यह समूह मूल रूप से मुस्लिम ब्रदरहुड की एक शाखा थी जो इस्लामी सिद्धांतों का पक्षधर है। इस सिद्धांत के तहत एक ऐसी मान्यता कि इस्लाम को राजनीतिक जीवन में एक प्रमुख भूमिका निभानी चाहिए। अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा सहित कई देशों ने इजरायल पर इसके हमलों के कारण हमास को एक आतंकवादी संगठन घोषित किया है। हमास इजरायल के खिलाफ रॉकेट हमले और आत्मघाती बम विस्फोट कर चुका है। हमास के ताजा हमले ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है। हमास का कहना है कि वह फलस्‍तीनी लोगों को कब्जे से मुक्त करने और इजरायल के बड़े हिस्सों पर फिर से दावा करने के लिए एक स्वतंत्रता-संग्राम आंदोलन है।

Related Articles

Leave a Comment