Home राजनीति इजरायली बमबारी में 900 वर्ष पुराना चर्च पर बमबारी

इजरायली बमबारी में 900 वर्ष पुराना चर्च पर बमबारी

praarabdh Desk

by Praarabdh Desk
99 views

 आमजनों को आधा घंटे में शहर खाली करने का फरमान सुनाने के बाद गाजा के जेहरा शहर को इजरायली वायुसेना ने बमबारी से बर्बाद कर दिया। इसी दौरान आर्थोडाक्स क्रिश्चियन चर्च मिसाइल हमले की चपेट में आ गया। यह चर्च करीब 900 वर्ष पुराना था और यह गाजा का सबसे प्राचीन ईसाई पूजास्थल था।

इजरायली सेना ने कहा है कि उसके निशाने पर हमास का कमांड सेंटर था जो चर्च के नजदीक स्थित है, निशाना चूक जाने से मिसाइल चर्च पर जा गिरी। इस चर्च में इजरायली बमबारी से बचने के लिए बड़ी संख्या में ईसाई और मुस्लिम समुदाय के लोग शरण लिए हुए थे।

बमबारी में 18 लोगों के मारे जाने और दर्जनों के घायल होने की सूचना है। यरुशलम के आर्थोडाक्स पैट्रीआर्चेट ने कहा है कि इजरायली सेना ने सेंट पोर्फीरियस चर्च पर हमला किया जहां पर सैकड़ों ईसाई और मुस्लिम शरण लिए हुए थे। अभी चर्च के मलबे में कई और लोगों के दबे होने की आशंका है।

गाजा की सरकार ने की निंदा

गाजा की हमास सरकार ने कहा है कि निहत्थे लोगों और पूजास्थलों पर हमले कर इजरायली सेना युद्ध अपराध कर रही है। इसके लिए इजरायल के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। जबकि इजरायली सेना ने कहा है कि निशाना चूक जाने से बम चर्च पर गिर गया, इससे उसका एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है।

इजरायली हमले में बहुमंजिला मकान नष्ट

इजरायली सेना की गुरुवार रात हुए बमबारी में गाजा के जेहरा शहर के 25 बहुमंजिला भवन नष्ट हो गए हैं। माना जा रहा है कि सात अक्टूबर से जारी इजरायली कार्रवाई में अभी तक गाजा के एक तिहाई भवन नष्ट हो चुके हैं या फिर रहने लायक नहीं रह गए हैं।

सात अक्टूबर को इजरायल पर हुए बर्बर हमले के बाद से हमास के प्रभाव वाली गाजा पट्टी पर इजरायली सेना की बमबारी जारी है। इस बमबारी में अभी तक करीब 3,800 लोग मारे जा चुके हैं और 12 हजार से ज्यादा घायल हुए हैं। मारे गए लोगों में 1,500 से ज्यादा बच्चे हैं। गाजा को घेरकर इजरायली सेना वहां घुसने के लिए तैयार है।

जमीनी कार्रवाई से पहले इजरायली सेना ने उत्तरी गाजा में रहने वाले दस लाख आमजनों से इलाका खाली करा लिया है। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि गाजा में दस लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए हैं और वे जान बचाने के लिए जहां-तहां शरण लिए हुए हैं। गाजा सीमा पर पहुंचे इजरायल के रक्षा मंत्री योएव गैलेंट ने सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा, अभी आप दूर से गाजा को देख रहे हैं-बहुत जल्द गाजा के भीतर जाकर उसे देखेंगे।

वेस्ट बैंक और लेबनान से मोर्चा खुलने की आशंका

हमास के खिलाफ छेड़ा गया इजरायल का युद्ध लंबे समय तक चलने की आशंका है। गाजा पट्टी में लड़ाई लंबी खिंचने पर वेस्ट बैंक और लेबनान से भी इजरायल पर हमले हो सकते हैं। इस आशंका से इजरायल ने लेबनान सीमा के नजदीक बसे किरयात शिमोना शहर को खाली करा लिया है। इजरायली सेना और लेबनानी हिजबुल्ला के बीच हिंसक झड़पें हो रही हैं। जबकि वेस्ट बैंक में एक शरणार्थी शिविर में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में पांच बच्चों समेत 13 लोग मारे गए हैं। इसकी प्रतिक्रिया स्वरूप वेस्ट बैंक से भी इजरायल के खिलाफ मोर्चा खुल सकता है।

गाजा में नहीं पहुंची राहत, आपदा की आशंका

सात अक्टूबर के हमास के हमले के बाद इजरायली सेना ने गाजा पट्टी की घेराबंदी कर वहां की बिजली, पानी, दवा, खाद्यान्न, ईंधन और अन्य वस्तुओं की आपूर्ति रोक दी है। संयुक्त राष्ट्र ने गाजा के हालात नारकीय बताए हैं और बड़ी मानवीय आपदा की आशंका जताई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दवा, आक्सीजन, चिकित्सा उपकरणों और बिजली के अभाव में हजारों मरीजों के मरने और मलबे में दबे शवों के कारण महामारी फैलने की आशंका जताई है। मिस्र के रफाह बार्डर पर राहत सामग्री लेकर ट्रक खड़े हैं लेकिन इजरायली सेना उन्हें गाजा में जाने की अनुमति नहीं दे रही है। इजरायल ने साफ कर दिया है कि वह अपनी जमीन से गाजा को जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति तब तक नहीं करेगा जब तक हमास उसके 200 से ज्यादा बंधकों को रिहा नहीं करता।

Related Articles

Leave a Comment