Home विषयलेखक के विचार Hotel Industry में Online Feedback System

Hotel Industry में Online Feedback System

Nitin Tripathi - Story

by Nitin Tripathi
213 views
होटल इंडस्ट्री में ऑनलाइन फ़ीड्बैक सिस्टम आ जाने से होटलियर्स के कई बार बहुत मज़ेदार अनुभव होते हैं.
एक बार 31 दिसम्बर को होटल सुइट की बुकिंग थी, बुकिंग एक लड़की के नाम थी. रात्रि आठ नौ बजे लड़की ने चेक इन किया. फ़िर धीमे धीमे गेस्ट संख्या बढ़ती गई. होटल में प्रायः जो गेस्ट मिलने भी आते हैं अगर कमरे में जाते हैं तो उनकी प्रॉपर एंट्री होती है. अगर रात्रि रुकने वाले गेस्ट हों तब तो प्रॉपर गेस्ट रेजिस्टर में सभी की एंट्री होती है फ़ोटो id आदि के साथ. इस रेजिस्टर को पुलिस कभी भी चेक कर सकती है.
साथ ही होटल के नियम होते हैं, एक्स्ट्रा गेस्ट होने पर एक्स्ट्रा पैसे भी देने होते हैं. प्लस पॉलिसी होती है कि किस तरह के कमरे में अधिकतम कितने गेस्ट रह सकते हैं.
इस केस में आरम्भ में पता भी न चला कि एक गेस्ट चेक इन कर सात आठ लोग कब पहुँच गए रूम में. ज़ाहिर सी बात है रिसेप्शन पर बैठने वाला सारे गेस्ट को शक्ल से नहीं पहचान सकता. गेस्ट आए चुप चाप रूम में चले गए. रात्रि एक दो बजे जब कमरे से आते शोर की शिकायत हुई तब पता चला आठ दस लड़के लड़कियाँ ज़बर्दस्त दारू पिए हुवे. टोका जाए तो बहस, id माँगी गई तो गाली गलौज. स्टाफ़ को उचित न लगा इतनी रात को सीन क्रिएट करना.
सुबह चेक आउट का समय दस. ग्यारह बज गए निकल ही नहीं रहे. रिसेप्शन से काल करने पर गाली गलौज कि हम आठ बजे आए थे तो आठ बजे ख़ाली करेंगे. रिसेप्शन ने बारह बजे थोड़ा तेज आवाज़ में बात की, तो लड़की एकदम बिफर गई कि लड़की से कैसे तेज आवाज़ में बात कर रहे हैं.
एक बजे फ़िर मैटर अपने हाथ में लेना पड़ा. सिक्यरिटी ले जाकर ज़बरदस्ती रूम ख़ाली करवाना पड़ा. खाने पीने के पैसे मिलने का सवाल ही नहीं. हमें लगा मैटर समाप्त. पर शाम तक उन में एक गेस्ट ने tripadvisor पर नेगेटिव फ़ीडबैक डाल दिया कि मैनेजमेंट लड़कियों से बत्तमीजी करता है, स्टाफ़ के लोग बग़ैर बताए रूम में घुस आते हैं, रात भर स्टाफ़ डिस्टर्ब करता रहा आदि. ग़ुस्सा तो बहुत आई.
कमरे की तलाशी में एक लड़की का दुपट्टा टाइप, लड़के के इनर वियर टाइप और कुछ आपत्ति जनक सामग्री मिली थी. गेस्ट का बैक ग्राउंड चेक किया – इतने कांटैक्ट लोकल सबके होते हैं. समझ आया पास के ज़िले के के गाँव देहात के लड़के लड़कियाँ थे लखनऊ में काल सेंटर में काम करते थे. जिस लड़की ने चेक इन किया था उसका आधार और पता था ही.
जो भी आपत्ति जनक सामग्री, कपड़े आदि मिले थे, वह सब गाँव के घर के पते पर कूरियर कर दिया नोट के साथ कि सम्मान नीय गेस्ट 31 दिसम्बर की रात को आप सात गेस्ट के साथ होटल में आकर रुकी थीं. यह है आपका चेक इन रेकर्ड साइन के साथ. आपकी सामग्री होटल में छूट गई थी. ज़िम्मेदार होटल होने के नाते हम यह सब वापस कर रहे हैं. आप अभी भी रेकर्ड में हमारे होटल में चेक इन हैं. कृपया चेक आउट फ़ॉर्मैलिटी कम्प्लीट कीजिए, बाक़ी चार लड़कों और दो लड़कियों के ID जमा कीजिए और शेष इतनी पेमेंट है उसका भुगतान इस नम्बर पर फटाफट कीजिए अन्यथा हम पुलिस में लापता गेस्ट की शिकायत दर्ज कर रहे हैं.
ऐसी चिट्ठी और ऐसा सामान गाँव में घर पहुँच जाए घर में क्या हुआ होगा आप सब समझदार हैं. लौटती डाक से पिता जी ने चेक आउट स्लिप पर हस्ताक्षर कर भेजा और बची हुई पेमेंट भी paytm की. नेगेटिव फ़ीड्बैक भी हमने tripadvisor से शिकायत की कि इस नाम का कोई गेस्ट यहाँ रुका ही नहीं था, वह सबूत भी न दे पाए रुकने का – और वह नेगेटिव फ़ीडबैक भी डिलेत हो गया.

Related Articles

Leave a Comment