Home चलचित्र आज पूरे सोसल मीडिया पर ओस्कर अवार्ड की चर्चा है

आज पूरे सोसल मीडिया पर ओस्कर अवार्ड की चर्चा है

by Nitin Tripathi
437 views
आज पूरे सोसल मीडिया पर ओस्कर अवार्ड की चर्चा है, जिसमें ऐंकर द्वारा विल स्मिथ की वाइफ़ पर घटिया जोक मारने पर विल स्मिथ ने मंच पर चढ़ कर ऐंकर को थप्पड़ जड़ दिया. इस चर्चा में असल कहानी दब गई – विल स्मिथ को जिस फ़िल्म के लिए ओस्कर मिला है – किंग रिचर्ड्ज़ की.
यह कहानी है टेनिस की सुपर स्टार वीनस और सेरेना विलियम्स के पिता रिचर्ड्स की.
यह कहानी है कि अगर आपमें विजन है तो आप कुछ भी कर सकते हैं.
टेनिस महँगा खेल है. वह भी फ़ीमेल टेनिस – पूरी तरह से अमीर गोरे परिवार की लड़कियों का खेल.
रिचर्ड्स ब्लैक और गरीब. घर में तीन सौतेली और दो अपनी कुल पाँच बेटियाँ. लेकिन रिचर्ड्स का विजन इतना तगड़ा था कि अपनी बेटियों के पैदा होने के पहले ही उन्होंने 85 पन्नों का डॉक्युमेंट बना डाला था कि वह अपने बच्चों का टेनिस का चैम्पियन बनाएँगे.
खुद सिक्यरिटी गार्ड थे, पत्नी नर्स, पर बेटियों को टेनिस जैसा महँगा खेल खिलाया. बड़ी मुश्किल से बड़ी बेटी वीनस के लिए वर्ल्ड क्लास कोच तलाश पाए. रिचर्ड ने फ़ैसला कर रखा था वह अपनी बेटियों को जूनियर लेवल पर नहीं खिलाएँगे, सीधे सीनियर खिलाएँगे. क्योंकि प्रायः जूनियर लेवेल पर प्रसिद्धि मिल जाने पर लोग सीनियर तक यह स्टैमिना क़ायम नहीं रख पाते. कोच ने विरोध किया तो उसे ही फ़ायर कर दिया. इतना क्लीयर विजन था रिचर्ड का कि चाहते तो बेटी को जूनियर लेवल पर खिला अरबों बना लेते, लेकिन लगे रहे कि नहीं सीधे विश्व चैम्पियन बनाएँगे.
एक समय ऐसा आया जब बड़ी बेटी से भी झगड़ा हुआ इसी बात पर. वीनस का भी मन करता वह प्रोफेशनल लेवल पर खेले, tv पर आए लेकिन पिता जी थे कि मानते ही न थे. वह बेटी को प्रोफेशनल लेवल तभी खिलाना चाहते थे जब भरोसा हो जाए कि विश्व चैम्पियन बनेगी. अंततः वीनस ने खेलना आरम्भ किया. पहले मैच से पहले ही विज्ञापन की डील मिल गई तीन मिलियन डालर. एक सिक्यरिटी गार्ड इसका दस प्रतिशत ज़िंदगी में न बचा पाए. लेकिन रिचर्ड का विजन क्लीयर था. उनकी बेटी छोटे मोटे में नहीं फँसेगी, विश्व चैम्पियन बनेगी.
और फ़िर हुआ यही. वीनस विलियम्स पहली ब्लैक महिला बनी जो टेनिस में नम्बर एक रैंक पर पहुँची. पाँच विम्बलडन जीते. छोटी बहन सेरेना ने तो 23 ग्रैंड स्लैम जीते और मानवता के इतिहास की सबसे सफल महिला खिलाड़ी बनी.
इनकी यह सफलता कहानी है इनके पिता रिचर्ड के क्लीयर विजन की. उन्होंने बेटियों के पैदा होने के पहले ही एक विजन बनाया और उसे पूरा किया. किंग रिचर्ड्स फ़िल्म है इसी कहानी पर. और दोनों बेटियाँ विल्यम्ज़ सिस्टर्ज़ इस फ़िल्म की इग्ज़ेक्युटिव प्रडूसर हैं. रिचर्ड का नाम भी अमर हो गया.
यदि आप में भी कोई विजन है तो रिचर्ड की ही भाँति अर्जुन की तरह अपने अंतिम नतीजे पर फ़ोकस रखें.

Related Articles

Leave a Comment