Home नए लेखकओम लवानिया बॉलीवुड में सिर्फ बन रही है रीमेक फिल्मे

बॉलीवुड में सिर्फ बन रही है रीमेक फिल्मे

by ओम लवानिया
73 views

सिंघम 3! आखिरकार लेखक-निर्देशक रोहित शेट्टी की तलाश पूरी हुई, बाजीराव सिंघम की कहानी को तीसरा भाग मिलने जा रहा है। बी-टाउन से सूत्र लग रहे है, इस कड़ी में सलमान खान की एंट्री होने जा रही है।

रोहित शेट्टी के कॉप यूनिवर्स में सलमान खान भी दिखलाई दे सकते है। इसकी चर्चा काफ़ी वक्त से हो रही है। ख़ैर। रोहित शेट्टी ने 9 साल की कड़ी मेहनत के बाद कहानी जुटा ली है। जल्द इसे फ्लोर पर ले जाएंगे। रणवीर सिंह के साथ सर्कस दिसंबर 2022 में नज़दीकी सिनेमाघरों में पहुँच जाएगी। फिर सिंघम के साथ व्यस्त होंगे।

एक्शन हीरो बिज्जू! मलयालम लेखक निर्देशक एब्रिड शाइन की सुपरहिट कॉप फ्लिक 2016 में दर्शकों के बीच पहुँची और सफल रही। उसके बाद इस कंटेंट को रोहित शेट्टी ने दबोच लिया और सिंघम को विस्तार देने का फैसला लिया है।

यदि सिंघम 3 में एक्शन हीरो बिज्जू कंटेंट जुड़ गया, तो अजय देवगन बैक टू बैक कैथी-भोला, दृश्यम 2- अजय देवगन, सिंघम 3-एक्शन हीरो बिज्जू साउथ रीमेक कतार में होंगी। बॉलीवुड में हर तरफ से सिर्फ़ रीमेक ही नज़दीकी सिनेमाघरों में पहुँच रहे है।

लाल सिंह चड्डा उर्फ फॉरेस्ट गंप, कभी ईद कभी दीवाली यानी वीरम, सर्कस मने अंगूर, शहजादा-आला वैकुंठपुरमुलु, विक्रम वेधा-ऋतिक व सैफ, अय्यप्पनम कोशियुम-जॉन व अभिषेक, हिट द फर्स्ट केस- सेम प्रस्तुति, धुरुवंगल पथिनारु- वरुण धवन, सोरारई पोट्रु- अक्षय कुमार, आदि

साउथ इंडस्ट्री ने जबर ग्रोथ ली है इसमें तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम शामिल है। इधर, मराठी कंटेंट भी अपनी इंडस्ट्री को हाई-अप देने में जुटा हुआ है। बॉलीवुड इनके भी रीमेक में लगा हुआ है। भारतीय सिनेमा का केंद्र बिंदु ‘बॉलीवुड’ कॉपीवुड में परिवर्तित होता जा रहा है। गुजराती फ़िल्म इंडस्ट्री भी स्केल बढ़ा रही है।

बॉलीवुड के तरण चिचा 11 अगस्त के लिए दर्शकों की टेंडेंसी माप रहे है। कि लाल सिंह और रक्षाबंधन में कौनसी पहले देखोगे।

नतीज़े चौकाने वाले निकल रहे है। लाल सिंह को 37.4 प्रतिशत, रक्षाबंधन को 22.4 प्रतिशत और नोटा को 40.3 फीसदी वोट मिले है। अभी पोल चालू है।

जबकि लाल सिंह चड्डा ने सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट ले लिया है रन टाइम 2 घण्टे 44 मिनट है। रील वाले दौर में इतना टाइम पीरियड कंटेंट के बर्बादी का कारण बनता है।

तो वही ईको वाले पत्रकाल लाल सिंह से खफा है कि आप गिड़गिड़ाए क्यों? हम है न! सब कुछ ठीक कर देंगे।

अक्खे कुमार भी बॉयकॉट के लपेटे में आ चुके है। बच्चन पांडे, सम्राट पृथ्वीराज के बाद रक्षाबंधन भी उसी ओर जाएगी।

Related Articles

Leave a Comment