हमारी पृथ्वी

by Sharad Kumar
835 views

हमारी पृथ्वी इस वक्त 30 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से सूर्य के चारो ओर घूम रही है। यानी जब तक आपने ये लाइन पढ़ी है तब तक हम अपनी पृथ्वी के साथ 60 से 90 किलोमीटर तक का सफर तय कर चुके है। हमारा सूर्य 200 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से हमारी आकाश गंगा याने मिल्की वे गैलेक्सी के केंद्र का चक्कर लगा रहा है। हमारी मिल्की वे गैलेक्सी के केंद्र में स्थित ब्लैक होल का चक्कर एक सितारा S-4714 लगा रहा है जो एक सेकेंड में 24000 किलोमीटर की दूरी तय कर लेता है।

आपके एक बार पलक झपक कर खोलने में जितना वक्त लगता है उतनी देर में ये सितारा 24000 किलोमीटर दूर होता है और ये गति प्रकाश की गति का मात्र आठ प्रतिशत है। वैक्यूम में प्रकाश की गति लगभग तीन लाख किलोमीटर प्रति सेकेंड होती है। ब्रह्मांड में कुछ भी प्रकाश से तेज नही चल सकता, अभी तक तो ऐसा माना जाता है हालांकि कई सारी गैलेक्सियाँ प्रकाश की गति से भी तेज रफ्तार से एक दूसरे से दूर होती नज़र आ रही है
लेकिन ये एक गणितीय सम्भावना है जो गलत भी हों सकती है। वेदों में धनंजय तत्व को प्रकाश से चार गुना गति वाला बताया गया है जो मनस तत्व पर सफर करता है। ब्रह्मांड में सबसे तेज गति काल की बताई गई है।काल की गति इतनी तेज होती है कि ये एक ही समय मे हर जगह रहता है। दिलचस्प बात ये है कि आधुनिक विज्ञान भी अभी तक नहीं जानता कि काल अर्थात समय वास्तव में हैं क्या।

Related Articles

Leave a Comment