Home हमारे लेखकत्रिलोचन नाथ तिवारी आपने रेडियो सीलोन की बिनाका गीतमाला सुनी है?

आपने रेडियो सीलोन की बिनाका गीतमाला सुनी है?

143 views
आपने रेडियो सीलोन की बिनाका गीतमाला सुनी है?
बिनाका जब सिबाका हुई तो कार्यक्रम का नाम भी सिबाका गीतमाला हो गया लेकिन मजा जस का तस रहा क्योंकि
इस कार्यक्रम में तात्कालिक सर्व-प्रसिद्ध गीतों को उनकी लोकप्रियता के आधार पर एक क्रम दिया जाता था और लोकप्रियता की सीढ़ियों पर गीतों के चढ़ने-उतरने का खेल मनभावन भी होता था और रोमांचक भी।
कार्यक्रम के प्रस्तोता थे श्री अमीन सयानी। बाद में उन्होंने बिनाका गीतमाला के नाम से एक एलबम भी निकाला जिसमें साल भर के लोकप्रिय गीतों में प्रथम स्थान पर रहने वाले गीतों का समावेश था। उस एलबम की कैसेट्स की जोड़ी मेरे पास अब भी है लेकिन अब टेप रिकॉर्डर या टेप प्लेयर का जमाना ही नहीं रहा। कैसेट्स भी शायद जम चुकी होंगीं क्योंकि अठारह साल से वे कभी प्ले ही नहीं हुईं। लेकिन फेंकी नहीं मैंने। मैं घावों को, वादों को, स्मृतियों को और दुश्मनी को, हमेशा सहेज कर रखता हूँ।
जीवन की आपाधापी में गीतों का साथ छूट गया। उन गीतों का भी, जिनको मैं सुना करता था और उनका भी जिन्हें मैं लिखा करता था। फिर भी, जब सारा कुछ उदास हो उठता तो मुझे गीतों के पास ही शरण मिलती थी, सुन कर, या लिख कर। मेरे मेमोरी कार्ड में आज भी 4967 पुराने गानों के ऑडियो क्लिप्स हैं। लेकिन एक वक़्त वह भी आया जब मैं इनसे भी दूर होता गया। अगस्त 2017 के बाद मैं मैं नहीं रहा, कोई और हो गया।
और एक दिन फेसबुक पर एक व्यक्ति मिला जिसकी भित्ति पर लगभग वे सारे फिल्मी गीत दिखे जिन्हें मैं कभी सुना करता था, जिन्हें मैं कभी गाया करता था।
यदि आप पुराने फिल्मी गानों के रसिया हैं
तो Rajesh Gupta को फ़ॉलो कर लीजिये।
बन्दे में एक ही बुराई है।
मैं भी तो दो ठीकठाक पोस्ट्स के बीच बहुत ग़दर काटता हूँ।
और हाँ,
मुझको यारों माफ करना, मैं नशे में हूँ।

Related Articles

Leave a Comment