Home विषयजाति धर्मईश्वर भक्ति भारतीय कैलेंडर और श्री कृष्ण जन्मअष्टमी

भारतीय कैलेंडर और श्री कृष्ण जन्मअष्टमी

Vivek Umrao

by Umrao Vivek Samajik Yayavar
76 views

भारतीय पारंपरिक कैलेंडर के अनुसार, आदि का जन्म सन् 2016 को जन्माष्टमी के दिन हुआ था। आदि छः वर्ष पूरे कर रहे हैं। ग्रेगोरियन कैलेंडर (दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यही कैलेंडर चलता है) के अनुसार आदि का जन्मदिन अगले सप्ताह है। आदि की नानी-अम्मा ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार वाले दिन, सिडनी से कैनबरा अकेले कई-सौ किलोमीटर कार चलाते हुए आएंगी फिर वापस भी जाएंगी, आदि के लिए केक भी लेकर आएंगी। इतनी मेहनत करके आदि के जन्मदिन पर आदि के साथ समय गुजारने के लिए आएंगीं जबकि आदि की नानी-अम्मा की आयु लगभग 68 वर्ष है।

आदि के जन्मदिन के उपलक्ष्य में समारोह करने के लिए छुट्टी का दिन चुना गया है ताकि आदि के सभी सहपाठी व उनके माता-पिता समारोह में शिरकत कर सकें। आदि की कक्षा में 20 बच्चे हैं व कुल 5 शिक्षिकाएं हैं। सभी 20 बच्चों को आमंत्रित किया गया है, केवल एक बच्ची जो आदि की बहुत अच्छी मित्र है वह नहीं आएगी शेष सभी बच्चे आएंगे। आदि की यह दोस्त उन दिनों कैनबरा में ही नहीं होगी, अपने परिवार के साथ कुछ दिनों के लिए कैनबरा से बाहर जा रही है।

पर्वत श्रंखला के एक खूबसूरत जंगल में आदि का जन्मदिन का समारोह आयोजित किया जाएगा। दो घंटे का किराया लगभग पच्चीस हजार रुपए है, भोजन व अन्य खर्च अलग से होंगे। जंगल में बच्चों के लिए कई प्रकार की गतिविधियां होंगी, मौजमस्ती होगी, घूमना-फिरना होगा। माता-पिता का रोल ड्राइवर जैसे होगा, जो अपने बच्चों के साथ अपने-अपने घरों से आयोजन स्थल तक आने-जाने का काम करेंगे तथा बच्चों की गतिविधियों पर ताली बजाने का काम करेंगे। पूरा आयोजन पूरी तरह से बच्चों के ऊपर केंद्रित होगा।

भारतीय पारंपरिक कैलेंडर के अनुसार जन्माष्टमी को आदि का जन्मदिन होता है। आदि के जन्मदिन के उपलक्ष्य पर आपको बहुत-बहुत बधाई, ढेरों शुभकामनाएं। आदि के प्रति आपके प्रेम व आशीर्वाद के लिए आभार।

Related Articles

Leave a Comment