Home नए लेखकओम लवानिया द कश्मीरी फाइल्स को पछाड़ ब्रह्मास्त्र बनी इस साल की सबसे हिट फिल्म

द कश्मीरी फाइल्स को पछाड़ ब्रह्मास्त्र बनी इस साल की सबसे हिट फिल्म

Om Lavaniya

by ओम लवानिया
41 views
धर्मा प्रोडक्शन के नए पोस्टर व वीडियो से ब्रह्मास्त्र को द कश्मीर फाइल्स से बड़ी हिट करार दिया है ट्रेड भी मौन बना हुआ है। क्योंकि सब एडजस्ट कर रखा है।
द कश्मीर फाइल्स! ब्रह्मास्त्र को 2022 की सबसे बड़ी सफल फ़िल्म में अव्वल करार दिया जा रहा है। जिसे आठ हजार स्क्रीन काउंट के साथ वैश्विक स्तर पर रिलीज दी गई थी। पांच हजार डोमेस्टिक व 3 हजार ओवरसीज स्क्रीन काउंट डिवाइड हुई थी। करण जौहर ने अपने स्टेटस के अनुरूप ब्रह्मास्त्र को सोलो रिलीज छोड़ा था। इवन, दूसरे हफ्ते भी बड़ी रिलीज न होने दी। 23 सितंबर को चुप-द रिवेंज ऑफ आर्टिस्ट नजदीकी सिनेमाघरों में दस्तक देगी। तब तक ब्रह्मास्त्र को अकेले दौड़ने का स्पेस है।
तो वही, ज़ी स्टूडियो बड़ी मशक्कत के बाद 400 स्क्रीन पर फाइल्स को रिलीज दे पाया। क्लीन ब्लॉकबस्टर, बल्कि ऑल टाइम ब्लॉकबस्टर क्या होती है। महज दो दिनों के रेस्पॉन्स के साथ फ़िल्म को 2000 स्क्रीन काउंट देने पड़े। क्योंकि दर्शकों की भारी डिमांड थी, इसे डिस्ट्रीब्यूटर्स व एग्जीबिटर्स नकार न सकते थे। उन्हें तो कमाई करनी थी। फाइल्स मौका दे रही थी, कौन छोड़ता, देखते ही देखते पहले हफ्ते में 4 हजार स्क्रीन पर आकर खड़ी हो चली। इधर, प्रभास की बड़ी फिल्म राधेश्याम से क्लेश मिला व अगले ही दिनों में अक्खे कुमार बच्चन पांडे ले आए। इतने अवरोध को पार करके फाइल्स ने ट्रेड को हैरान परेशान कर दिया था। बॉक्स ऑफिस का तो जेनोसाइड हो चला था। कांप उठा था।
3 करोड़ से सफर शुरू करके, पहले हफ्ते 97 करोड़ पर थी। दूसरे हफ्ते जबरदस्त आंकड़े ग्रोथ में मिले, 26 करोड़ सिंगल डे निकाली थी। आखिरी दिनों तक 252 करोड़ रुपये पर रुकी। इन आंकड़ों में 46 करोड़ ओवरसीज के फिगर्स जोड़ने बाक़ी है। इसका प्रोडक्शन बजट 20 करोड़ था।
इधर, ब्रह्मास्त्र ने सोलो पैन इंडिया से पहले दिन 36 करोड़, दूसरे दिन 41 व तीसरे दिन 45 करोड़ कमाए थे। सोमवार के दिन फ़िल्म औंधे मुँह लेट गई। उसके बाद लेटती चली गई। ब्रह्मास्त्र के आंकड़े विवादित है, इनमें झोल की बू है। वाक़ई फ़िल्म इतनी अच्छी चल रही है तो इसके कलेक्शन में डाउन फॉल क्यों आ रहा है हल्का डाउन न है 45 से सीधे 14, उसके बाद 12 फिर 10 और 9 जैसे आंकड़े आए है। जिसे फाइल्स से बड़ी फिल्म बतलाया जा रहा है।
गज़ब, इन्हें फाइल्स से कितनी चिढ़ है। बड़े लेवल की फिल्में ट्रिपल आर, बाहुबली और केजीएफ़ से तुलना न कर रहे है। फाइल्स से कर रहे है जिसमें कोई बड़ा चेहरा भी न था। जिसका बॉलीवुड में दबदबा होता। इतना तय है कि फाइल्स को ब्रह्मास्त्र के परिवेश में रिलीज मिलती तो इतिहास क्या होता? सोच ले। तुलना करना है तो उसके संसाधन भी देखिए न, उसके हिसाब से तौलिए।
मेगास्टार की हालत तो देखिए, चिरंजीवी व सलमान खान द्वारा अभिनीत मलयालम ल्युसिफर तेलुगु रिमेक गॉड फादर को डिस्ट्रीब्यूटर्स न मिल रहे है।

Related Articles

Leave a Comment